मोदी सरकार ने देश की जनता का रूपया छीनकर डाल दिया बड़े उद्योगपतियों की जेब में: राहुल

मोदी सरकार ने देश की जनता का रूपया छीनकर डाल दिया बड़े उद्योगपतियों की जेब में: राहुल


बदायूं। कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने मोदी सरकार पर निशाना साधते हुये कहा कि देश के चौकीदार ने नोटबंदी और वस्तु एवं सेवाकर (जीएसटी) लागू करके देश की जनता का रूपया उद्योगपितयों की जेब में डाल दिया।

श्री गांधी ने बदायूं के म्याऊं में आयोजित चुनावी जनसभा को संबोधित करते हुये कहा कि देश के चौकीदार ने नोटबंदी की और गब्बर सिंह टैक्स(जीएसटी) लागू करके लोगों की जेब से रुपये निकालकर बड़े उद्योगपतियों की जेब में डाल दिए। इससे 15-20 लोगों को जबरदस्त फायदा हुआ। उद्योगपतियों को तीन लाख 50 हजार करोड़ रुपये उनका कर्जामाफ हुआ। इससे अर्थव्यस्था चौपट हो गयी।

उन्होंने कहा कि गरीब लोगों की जेब से पैसा छीन लिया गया और नीरव मोदी और विजय माल्या की जेब में डाल दिया गया। देश की अर्थव्यवस्था को बर्बाद हो गयी। नोटबंदी और जीएसटी लागू होने के बाद फैक्ट्रियां बंद होने से बेरोजगारी बढ़ गई।

कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा कि पांच साल से केंद्र में मोदी सरकार और दो साल से प्रदेश में योगी की सरकार है। हर रैली में श्री नरेन्द्र मोदी कहते थे कि दो करोड़ युवाओं को रोजगार दूंगा। किसानों से कहते थे फसल का सही दाम सिर्फ मेरी सरकार दे सकती है और कर्जा भी माफ कर दूंगे। देश की जनता से कहा था कि हर खाते में 15 लाख रुपये डालकर दिखा दूंगा। पांच साल पहले नारा चलता था कि अच्छे दिन आएंगे।

उन्होंने कहा कि मोदी ने जो झूठ बोले हैं। उनकी सच्चाई पूरे देश के सामने हैं। 45 साल से सबसे ज्यादा बराेजगारी देश में हैं, फैक्टियां बंद। छोटे दुकानदार परेशान है। बेरोजगार युवा हर प्रदेश में मिलेंगे। करोड़ाें युवा बेरोजगार हैं।

श्री गांधी ने कहा कि पांच महीने पहले मैंने कांग्रेस के अर्थशास्त्रियों और थिंक टैंक वालों को बुलाया और पूछा कि पार्टी गरीब के खातों में पैसा डालना चाहे तो कितना पैसा डाल सकते हैं। 15 लाख न डाले तो कितना पैसा डाले जिससे देश की अर्थव्यवस्था को नुकसान न हो। अर्थशास्त्रियों ने बताया कि 72 हजार रुपये। साल के 72 हजार रुपये। पांच साल के तीन लाख 60 हजार रुपये।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर निशाना साधते हुए श्री गांधी ने कहा कि उन्होंने नीरव मोदी को जेल में नहीं डाला, मेहुल चौकसी और माल्या बाहर घूम रहे हैं। लाखों करोड़ रुपये बैंक से कर्जा लिया। वापस नहीं किया। उन्हें भागने दिया जाता है। किसान 30 हजार रुपये का लोन ले तो उसे जेल में डाल देते हैं। जनता को न्याय चाहिए। 2019 में जैसे ही कांग्रेस की सरकार बनेगी हम कानून काे बदल देंगे। कोई भी किसान कर्ज न लौटाने पर जेल नहीं जाएगा। पहले भगौड़े उद्योगपतियों को जेल में डालिए, फिर किसान जेल जाएंगे।

Share it
Top