जेल में बंद डकैत गोप्पा यादव को हत्या की आशंका, सुरक्षा की गुहार

जेल में बंद डकैत गोप्पा यादव को हत्या की आशंका, सुरक्षा की गुहार



चित्रकूट। उत्तर प्रदेश और मध्य प्रदेश के सीमावर्ती इलाकों में आतंक का पर्याय रहे एक लाख पांच हजार रुपये के कुख्यात ईनामी डकैत राम गोपाल यादव उर्फ गोप्पा ने जिला कारागार में अपनी हत्या की आशंका जताते हुए जिला जज से सुरक्षा की गुहार लगाई है।

जिला जज को लिखे पत्र में गोप्पा ने कहा कि जेल में उसकी जान को खतरा है। कारागार में जेल कर्मियों से सांठगांठ कर उसका दुश्मन अखिलेश निवासी ग्राम नहरा हर रोज सीमा तोड़कर उसके बैरक तक आ रहा है। साथ ही रसोइया से खाने में जहर मिलाने की बात कहते हुए भी सुना गया है।

दस्यु रामगोपाल पुत्र चुनकू यादव निवासी हर्रा थाना पहाड़ी का रहने वाला है, जिसने होश संभालते ही अपराध की दुनिया में कदम रख दिया था। गोप्पा पर कुछ ही समय में उत्तर प्रदेश के बांदा चित्रकूट और मध्य प्रदेश के सतना, रींवा आदि जिलों में 36 से अधिक गंभीर आपराधिक मामले दर्ज हो गए। इसी दुर्दांत डकैत ने चित्रकूट जिले के बहिलपुरवा थाना क्षेत्र में वर्ष 2013 में 50 हजार के इनामी डकैत गौरी यादव को पकड़ने आए दिल्ली के उप निरीक्षक जय भगवान शर्मा की गोली मारकर ह्त्या कर दी थी। इसके अलावा 19 फरवरी 2016 को पहाड़ी थाना क्षेत्र के हर्रा गांव में तीन लोगों की एक साथ गोली मारकर हत्या कर दी थी। दस्यु गोप्पा को 29 जुलाई 2017 को यूपी एसटीएफ और मऊ थाना पुलिस टीम ने लालतारोड के पास से गिरफ्तार किया था। इसके बाद से गोप्पा यादव जेल में बंद है।

Share it
Top