लखनऊ में मूर्ति तस्कर गिरफ्तार, अष्टधातु की कीमती मूर्ति बरामद

लखनऊ में मूर्ति तस्कर गिरफ्तार, अष्टधातु की कीमती मूर्ति बरामद



लखनऊ- उत्तर प्रदेश पुलिस की स्पेशल टास्क फोर्स (एसटीएफ) ने लखनऊ के सरोजनीनगर क्षेत्र से धोखाधड़ी कर अष्टधातु की प्राचीन मूर्ति बताकर बेचने वाले गिरोह के एक सदस्य को गिरफ्तार कर उसके पास से भगवान महावीर की मूर्ति की मूर्ति बरामद की।

एसटीएफ के वरिष्ठ पुलिस अभिषेक सिंह ने रविवार को यहां यह जानकारी दी। उन्होंने बताया कि सूचना पर एसटीएफ ने सरोजनीनगर इलाके में अमौसी क्षेत्र से अष्टधातु की प्राचीनतम मूर्ति के नाम पर धाेखाधड़ी करने वाले गिराेह के एक बलिया के रुपवार भगवानपुर निवासी नमोनारायण सिंह को गिरफ्तार कर उसके पास से करीब सवा छह किलो वजनी भगवान महाबीर की मूर्ति तथा कूटरचित खुनखुन लैब टेक्नाेलाॅजी प्रालि की टेस्टिंग रिपोर्ट बरामद की । गिरफ्तार आरोपी सरोजनीनगर इलाके में गंगानगर अमौसी के पास राजेश पण्डित के मकान में किराये पर रहता था।

उन्होंने बताया कि कुछ दिनों से सूचना मिल रही थी कि लखनऊ के आस-पास के क्षेत्र में अष्टधातु की प्राचीन मूर्ति बताकर धाेखाधड़ी कर भारी धनराशि लेकर बेचने का प्रयास किया जा रहा था। गिरोह को पकड़ने के लिए पुलिस उपाधीक्षक पी के मिश्र की टीम को जिम्मेदारी सौंपी थी। इसी क्रम में शनिवार शाम सूचना मिली कि अमौसी क्षेत्र में रहने वाले नमाेनारायण सिंह के पास भगवान महावीर की मूर्ति है, जिसकाे वह अष्टधातु की बताकर पांच लाख में बेच रहा है । इस सूचना पर एसटीएफ की टीम ने बताये गये स्थान हाईडील चौराहा गौरीबाजार के निकट एक हाेटल के पास

तीन व्यक्ति माैजूद मिले । पुष्टि के बाद एसटीएफ की टीम ने एक तीन में से व्यक्ति को दबोच लिया जबकि उसके दो साथी भगाने में सफल रहे ।

श्री सिंह ने बताया कि पकड़े गये व्यक्ति के झोले से मूर्ति और कूटरचित टेस्टिंग रिपोर्ट आदि बरामद की । पकड़े गये व्यक्ति को सराेजनीनगर थाने में दाखिल करा दिया। आगे की कार्रवाई स्थानीय पुलिस करेगी। पुलिस फरार लोगों की तलाश कर रही है।

Share it
Top