बरेली में 3 सिपाहियों ने कार से कुचलकर की थी जरी कारीगर की हत्या

बरेली में 3 सिपाहियों ने कार से कुचलकर की थी जरी कारीगर की हत्या

बरेली। उत्तर प्रदेश के बरेली जिले के पीरबहोड़ा में जरी कारीगर मुन्ना की हत्या इलाके के पशु तस्कर के साथ थाना इज्जतनगर के तीन सिपाहियों ने की थी। एसपी सिटी ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में पूरा घटनाक्रम साझा किया। घटनास्थल की सीसीटीवी फुटेज और आरोपी सिपाहियों की कॉल डिटेल की जांच के बाद इस मामले का खुलासा हुआ तो पुलिस के आला अधिकारियों ने दांतों तले उगली दबा ली।

प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान एसपी सिटी ने बताया कि हत्या के लिए इस्तेमाल की गई कार भी एक सिपाही की ही थी। उन्होंने बताया कि तीनों आरोपी सिपाहियों को जेल भेज दिया गया है। वहीं, फरार पशु तस्कर नवी रजा की तलाश जारी है। दरअसल, पूरा मामला 23 मार्च की रात का है। पीर बहोड़ा में 23 वर्षीय जरी कारीगर मुन्ना आधी रात के बाद किसी वक्त कार से कुचल दिया गया था।

घायल मुन्ना ने दम तोड़ने से पहले घरवालों को बताया था कि उसे पशु तस्कर नवी रजा के साथ आए तीन अज्ञात सिपाहियों ने पहले कार से टक्कर मारी और फिर सड़क पर गिरने के बाद कई बार कुचला था। मुन्ना के घर वालों ने यह वाकया पुलिस अफसरों को बताया तो पहले तो इस पर यकीन नहीं किया गया, लेकिन एफआईआर दर्ज करने के बाद जांच की गई तो एक के बाद एक सबूत मिलते गए और आखिरकार मुन्ना के परिजन के आरोप पूरी तरह सही निकले।

एसपी सिटी अभिनंदन सिंह ने प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान आरोपी हेड कांस्टेबल सुशील कुमार, कांस्टेबल शमीम खां और संजय सागर को मीडिया के सामने पेश किया। उन्होंने बताया कि तीनों सिपाही थाने की चीता मोबाइल में तैनात थे और पशु तस्कर नवी रजा से उनकी दोस्ती थी। एसपी सिटी के मुताबिक, 23 मार्च की रात वे थाने में पशु तस्करी की इत्तला देकर गए थे।

उन्होंने बताया कि घटनास्थल पर कार में पशु तस्कर नवी रजा के साथ इन सिपाहियों को देखकर मुन्ना भागा तो सिपाहियों ने कार से उसे टक्कर मार दी और फिर कुचलकर उसकी हत्या कर दी। आरोपी सिपाहियों का कहना है कि उनका इरादा मुन्ना की हत्या का नहीं बल्कि उसे धमकाने का था, भागते वक्त जब वह कार के नीचे आ गया तो वे लोग भाग आए।

एसपी सिटी के मुताबिक, मुन्नी की हत्या में इस्तेमाल की गई कार सिपाही शमीम की थी, जिसे कब्जे में ले लिया गया है। उन्होंने बताया कि पशु तस्कर नवी रजा की तलाश की जा रही है, उसकी गिरफ्तारी के बाद ही हत्या की वजह का पता चल पाएगा।

Share it
Top