सुल्तानपुर: गांवों में घूमा मेनका का काफिला, जगह-जगह हुआ फूल मालाओं से स्वागत

सुल्तानपुर: गांवों में घूमा मेनका का काफिला, जगह-जगह हुआ फूल मालाओं से स्वागत



सुल्तानपुर। अपने दौरे के दूसरे दिन रविवार को भारतीय जनता पार्टी की उम्मीदवार मेनका गांधी का काफिला गांवों की ओर निकल पड़ा। जगह-जगह गांव में महिलाएं, पुरुष और बच्चे मेनका गांधी का भव्य स्वागत फूल मालाओं से करते दिखे।

उन्होंने करौंदी कला ब्लॉक के करवल, परशुराम गांव में सभाओं को संबोधित किया। मेनका गांधी ने मतदाताओं को वोट की कीमत बताते हुए कहा कि हम आजादी के साथ जीना चाहते हैं और अपनी आजादी के लिए वोट करते हैं। उन्होंने अपने बेटे वरुण गांधी के कार्यों की प्रशंसा करते हुए कहा कि उन्होंने अपने वेतन से गांव के गरीब लोगों को मकान बनाकर दिया है। गोरखपुर में इलाज के दौरान बच्चों की मौत पर चर्चा करते हुए उन्होंने कहा कि सुल्तानपुर में मेरे बेटे ने इसीलिए बच्चों का अस्पताल बनवा दिया है ताकि बच्चों के इलाज के लिए आप लोगों को किसी प्रकार की दिक्कत ना हो।

अपने उद्बोधन में श्रीमती गांधी ने कहा कि मोदी सरकार की योजनाओं से गरीबों को बहुत बड़ी राहत मिली है। इज्जत घर के बनने से इज्जत बन जाती है। मुद्रा योजना से छोटे-छोटे व्यापारियों को एक बड़ा लाभ मिल गया है। महिलाओं को मुफ्त में गैस चूल्हा मिलने से उन्हें धुएं से राहत मिल गई है।

केंद्रीय मंत्री मेनका गांधी रविवार को सुल्तानपुर शहर से सुबह ही गांव की ओर निकल पड़ी। उनका काफिला मोतिगरपुर, बरवारीपुर के रास्ते बिजेथुआ महावीरन मंदिर पहुंचा। जगह-जगह महिलाएं, पुरुष और बच्चे मेनका गांधी का भव्य स्वागत फूल मालाओं से करते दिखे। ऐसा लग रहा था कि जैसे बरसों बाद कोई अपने घर का मेहमान आया हो। पार्टी कार्यकर्ताओं ने मेनका गांधी का जोरदार स्वागत किया। बिजेथुआ महावीरन में मेनका गांधी ने पूजा अर्चना एवं आरती की।

Share it
Top