लोकसभा चुनाव न लड़ने पर मायावती ने दिया स्पष्टीकरण

लोकसभा चुनाव न लड़ने पर मायावती ने दिया स्पष्टीकरण


लखनऊ- बहुजन समाज पार्टी (बसपा) की अध्यक्ष मायावती ने लोकसभा चुनाव न लड़ने के बारे में अपने बयान पर ट्वीट के जरिये स्पष्टीकरण दिया है।

बसपा अध्यक्ष ने बुधवार को ट्वीट किया, "जिस प्रकार 1995 में जब मैं पहली बार यूपी की सीएम बनी थी तब मैं यूपी के किसी भी सदन की सदस्य नहीं थी। ठीक उसी प्रकार केन्द्र में भी पीएम/मंत्री को छह माह के भीतर लोकसभा/राज्यसभा का सदस्य बनना होता है। इसीलिये अभी मेरे चुनाव नहीं लड़ने के फैसले से लोगों को कतई मायूस नहीं होना चाहिये।"

इससे पहले सुबह उन्होंने बयान जारी कर कहा था कि "मुझे लगता है कि मेरे चुनाव में खड़ा होने अथवा जीत हासिल करने से ज्यादा जरूरी गठबंधन की सफलता है। इसलिये मैने लोकसभा चुनाव नहीं लड़ने का फैसला किया है लेकिन मैं पार्टी के लिए पूरे देश में प्रचार करूंगी।"

उन्होंने बयान में कहा था कि "भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) को सत्ता से बाहर का रास्ता दिखाने के लिए उत्तर प्रदेश में बसपा ने समाजवादी पार्टी (सपा) और राष्ट्रीय लोकदल (रालोद) का गठबंधन किया है। इस गठबंधन को तनिक भी नुकसान नहीं होना मेरी प्राथमिकता है। इसलिए मेरे खुद के जीतने से ज्यादा जरूरी एक-एक सीट को जीतना है।"

Share it
Top