मोहनलालगंज: गठबन्धन और कांग्रेस तैयार, भाजपा में संशय बरकरार

मोहनलालगंज: गठबन्धन और कांग्रेस तैयार, भाजपा में संशय बरकरार


सीतापुर। मोहनलालगंज सीट पर गठबन्धन और कांग्रेस प्रत्याशियों की घोषणा होने के बाद भाजपा उम्मीदवार को लेकर चर्चाएं तेज हो गयी हैं, हालांकि क्षेत्रीय सांसद कौशल किशोर को फिलहाल भाजपा का प्रत्याशी मना जा रहा है, बावजूद इसके ऊहापोह की स्थिति बनी हुयी है।

प्रत्याशी चयन को लेकर पार्टी की रणनीति ने न सिर्फ कार्यकर्ताओं को बल्कि आम लोगों को भी पशोपेश में डाल दिया है। वर्तमान सांसद के समर्थक मानते हैं कि सांसद कौशल किशोर पूरी तरह से दूसरी पारी खेलने को तैयार हैं, वहीं दूसरे दावेदार पूर्व विधानसभा प्रत्याशी रामबख्श रावत भी बीते दो वर्षों से क्षेत्र में लगातार सक्रियता से जनमानस में लोकप्रियता का हवाला देकर टिकट मांग रहे हैं, और खुद को प्रबल दावेदार बता रहें है।

मोहनलालगंज लोकसभा सीट पर 2014 में जनता ने कौशल किशोर को संसद में पहुँचाया था, सांसद कौशल किशोर की जीत उस वक्त की मोदी लहर थी, अथवा उनका खुद का जमीनी व्यक्तित्व, लेकिन इस बार सिधौली विधान सभा की जनता वर्तमान सांसद द्वारा करवाये गये विकास कार्य व उनकी जनता के प्रति लोकप्रियता के हिसाब से वोट करने वाली है।

मोहनलालगंज लोकसभा में सिधौली विधान सभा को छोड़ कर सभी विधान सभाएं लखनऊ जनपद से जुड़ी हुई हैं। लखनऊ जनपद उत्तर प्रदेश की राजधानी होने के कारण पूरे लखनऊ क्षेत्र में विकास की गंगा बही। वहीं सिधौली विधान सभा उस विकास से की लहर से कोसो दूर रही क्षेत्र की जनता का कहना है, कि सांसद अपने चहेंतो पर ही विशेष ध्यान दिया। उन्ही के दरवाजे पर नल लगवाएं व लाईटे भी क्षेत्र की अधिकांश सड़के आज भी गड्ढों से भरी पड़ी हैं, पता ही चलता कि सड़क गड्ढों में है या गड्डे सड़क में। अगर इन्हीं विकास के मद्दों को लेकर सांसद क्षेत्र की जनता में गये तो उन्हें इसका खामियाजा भुगतना पड़ सकता है, क्योंकि सैकड़ों कैंडर कार्यकर्ताओं के साथ-साथ विधानसभा सिधौली की जनता में काफी अक्रोश देखने को मिल रहा है, जो क्षेत्र में विकास न होने से नाराज है। फिलहाल सांसद कौशल किशोर का रिपोर्ट कार्ड पार्टी मुख्यालय तक पहुँच चुका है।


Share it
Top