इटावा में स्कूलों में बना है कमल का निशान, कांग्रेस ने की शिकायत

इटावा में स्कूलों में बना है कमल का निशान, कांग्रेस ने की शिकायत


इटावा- लोकसभा चुनाव की तारीखों का एलान होने के साथ ही आदर्श आचार संहिता लागू हो चुकी है। वहीं, उत्तर प्रदेश के इटावा जिले के कई स्कूलों में कमल का चिह्न बने होने पर आचार संहिता उल्लंघन की शिकायत कांग्रेस ने मंगलवार को चुनाव आयोग से की है।

कांग्रेस के जिलाध्यक्ष उदयभान सिंह यादव ने चुनाव आयोग को शिकायत भेजकर कहा है कि जिले में जिन प्राथमिक स्कूलों को मतदेय स्थल के रूप में चिह्नित किया गया है उनमें से 80 फीसदी की दीवारों पर कमल की आकृति प्रमुखता से उकेरी हुयी है।

श्री सिंह ने कहा कि नियमों के तहत किसी भी मतदान स्थल के 200 मीटर की परिधि में किसी राजनीतिक दल का प्रचार नहीं किया जा सकता। ऐसे में इन स्कूलों में उकेरी गयी कमल की आकृति सीधे तौर पर भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) का प्रचार करती है। उन्होंने इसका तत्काल संज्ञान लेकर उचित कदम उठाने की प्रार्थना आयोग से की है।

इस संबंध में इटावा के जिलाधिकारी और जिला निर्वाचन अधिकारी जीतेंद्र बहादुर सिंह ने कहा है कि प्रशासन इस बारे में त्वरित संज्ञान लेकर कार्रवाई करेगा।

गौरतलब है कि पूर्व में सेल्वा कुमारी जे. के जिलाधिकारी रहते समय सभी प्राथमिक स्कूलों की रंगाई-पुताई करायी गयी थी और उसी वक्त कमल चिह्नों को दीवारों पर उकेरा गया था। इटावा जिले के जसवंतनगर में 397, इटावा सदर में 281 और भरथना में 441 प्राथमिक स्कूलों में मतदेय स्थल बनाये गये हैं।


Share it
Top