इटावा के डाक विभाग घोटाले की जांच करने आई सीबीआई टीम ने खंगाला सैकड़ों खातों को

इटावा के डाक विभाग घोटाले की जांच करने आई सीबीआई टीम ने खंगाला सैकड़ों खातों को


इटावा । उत्तर प्रदेश में इटावा जिले के अशोकनगर और सिटी पोस्ट आफिस में करोडो रूपये का घोटाला सामने आने के बाद शुक्रवार देर रात तक केन्द्रीय जांच ब्यूरो(सीबीआई)और डाक विभाग के वरिष्ठ अधिकारियों ने जांच करके सैकडो खातों को खंगाला।

इटावा के मुख्य डाक अधीक्षक मनोज कुमार ने शनिवार को यहॉ बताया कि शुक्रवार को सुबह 11 बजे के आसपास लखनऊ सीबीआई और आगरा के डाक विभाग के क्षेत्रीय आफिस से आये अधिकारियों ने इटावा डाक विभाग घोटाले के संदर्भ में न्यू सिटी पोस्ट आफिस में जांच शुरू की।

उन्होंने बताया कि लखनऊ से आई सीबीआई के उप पुलिस अधीक्षक ए0 लार्जस की अगुवाई में आई चार सदस्यीय टीम ने आगरा स्थित क्षेत्रीय पोस्ट आफिस से आई टीम ने देर रात दस बजे तक न्यूज सिटी पोस्ट आफिस मे संयुक्त रूप से खातो की जांच की गई। ज्वांइट सरप्राइज जांच के नाम से की गई चेकिंग में आगरा से आये क्षेत्रीय पोस्ट आफिस के सहायक अधीक्षक वीपेंद्र कुमार शुक्ला के अलावा इटावा के अधिकारी भी शामिल थे।

सीबीआई ने इस मामले में संज्ञान तब लिया जब इटावा के फै्रंडस कालौनी थाने मे उप डाक पाल नरेंद्र सिंह चौहान व एक अन्य के खिलाफ डाक घोटाले के संदर्भ में मुकदमा धारा 127/19 के तहत दर्ज किया गया था।

सयुक्त जांच टीम डाक विभाग घोटाले से संबंधित तमाम महत्वपूर्ण दस्तावेजो की प्रतियॉ अपने साथ ले गयी है । सीबीआई अधिकारियों ने बताया कि डाक विभाग का सर्वर सही ढंग से काम न करने के कारण जांच में खासी कठिनाई आयी थी।

आरोपी निलंबित उप डाकपाल नरेंद्र सिंह चौहान के बारे मे जेएससी जांच मे पाया गया है कि वह न्यू सिटी पोस्ट आफिस में 17 नंबवर 2014 से 27 सिंतबर 2018 तक तैनात रहे है। उसके बाद श्री चौहान की तैनाती अशोक नगर उप डाक घर मे तैनाती कर दी गई थी।

Share it
Top