हाईकोर्ट ने योगी सरकार को दी राहत, इलाहाबाद का नाम बदलने को लेकर दायर याचिकाएं हुईं खारिज

हाईकोर्ट ने योगी सरकार को दी राहत, इलाहाबाद का नाम बदलने को लेकर दायर याचिकाएं हुईं खारिज

प्रयागराज। इलाहाबाद उच्च न्यायालय ने मंगलवार को योगी सरकार को बड़ी राहत दी। उसने उन सभी जनहित याचिकाओं को खारिज कर दिया जिसमें इलाहाबाद का नाम बदलकर प्रयागराज रखने को चुनौति दी गई थी। अदालत ने अपने फैसले में कहा है कि नाम बदलने के फैसले में सभी ज़रूरी प्रक्रियाओं का पालन किया गया है और सरकार को इस तरह का फैसला लेने का पूरा अधिकार भी है। मामले की सुनवाई चीफ जस्टिस गोविन्द माथुर और जस्टिस चंद्रधारी सिंह की डिवीजन बेंच में हुई। अदालत ने इस मामले में सुनवाई पूरी होने के बाद दिसम्बर महीने में ही अपना फैसला सुरक्षित रख लिया था। अदालत ने फैसले में लिखा है कि देश में पहले भी मुम्बई, कोलकाता और चेन्नई समेत तमाम शहरों के नाम बदले गए हैं।इस बार भी उन्हीं नियमों का पालन किया गया है। इसमें कुछ भी गलत नहीं है।

याचिकामों में जो दलील दी गई थी उन्हें अदालत ने सही नहीं माना और सारी अर्जियों को खारिज कर दिया। अदालत के आज के फैसले से योगी सरकार द्वारा नाम बदलने के फैसले पर मुहर लग गई है। नाम बदले जाने के फैसले के खिलाफ कई संगठनों ने हाईकोर्ट में अर्जी दाखिल की थी।

याचिकाओं में कहा गया था कि इलाहाबाद का नाम बदले जाने के मामले में नियमों की अनदेखी की गई है और यूपी सरकार को ऐसा करने का अधिकार भी नहीं है। इलाहाबाद नाम समूची दुनिया में मशहूर है और इस शहर की पहचान इसी नाम से है।

Share it
Top