पुलवामा का बदला:शहीदों के परिजनों व पूर्व सैनिकों में खुशी का माहौल

पुलवामा का बदला:शहीदों के परिजनों व पूर्व सैनिकों में खुशी का माहौल


रायबरेली। पुलवामा में आतंकी हमले के बाद सेना द्वारा पाकिस्तान में हुई कारवाई को लेकर जिले में शहीदों के परिजनों में खुशी का मौहाल है। शहीदों के परिजन इस कारवाई से काफी खुश हैं और इसे समय पर लिया गया बदला मान रहे हैं । हिन्दुस्थान समाचार की ओर से शहीदों के परिजनों और पूर्व सैनिकों से इस कारवाई को लेकर बात की गयी ।

कारगिल में शहीद हुए राजेंद्र यादव की विधवा ललिता देवी इस कारवाई से बहुत प्रसन्न हैं । उनका कहना है कि इतने दिनों बाद अब वह महसूस कर रही हैं कि उन्हें न्याय मिला है। उन्होंने उम्मीद जताई कि ऐसी कारवाई सरकार नियमित तौर पर करती रहेगी। लालती देवी का कहना है कि भारत ने अब दिखा दिया है कि अब हमलों को बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। सालों से वह इसी उम्मीद में थी कि सरकार कुछ करेगी, इस कारवाई से वह पूरी तरह संतुष्ट हैं | उन्होंने कहा कि आगे भी इसी तरह की कारवाई आगे भी करने की जरूरत है।

वहीँ शहीद राजेन्द्र के पुत्र रजत भी सेना की इस कारवाई से काफी खुश हैं । ऊँचाहार के खरौली निवासी सुरेंद्र यादव भी बीएसएफ में सेवारत थे। कश्मीर में 2004 में वह पाकिस्तान की गोलाबारी में शहीद हो गए थे। उनकी विधवा और बेटे भी सेना के इस कदम से काफी प्रसन्न हैं । उनका कहना है देश की सेना पर सभी को भरोसा है तभी यह संभव हो पाया है। पूर्व सूबेदार मेजर राजकुमार सिंह ने भी कहा कि यह बहुत जरूरी था और सेना ने पूरी रणनीति के तहत कम समय के अंदर इसको अंजाम दिया है। पूरी भारतीय सेना, आम जनमानस और सरकार की दृढ़ इच्छाशक्ति के बदौलत यह संभव हो सका है।


Share it
Top