आवारा पशुओं को पकड़कर ग्रामीणों ने स्कूल में किया बंद, छात्रों को भुगतना पड़ा खामियाजा

आवारा पशुओं को पकड़कर ग्रामीणों ने स्कूल में किया बंद, छात्रों को भुगतना पड़ा खामियाजा


मेरठ। ग्रामीणों ने आज आवारा पशुओं को पकडकर उन्हें सरकारी स्कूल में बंद कर गेट पर ताला डाल दिया। सरकारी स्कूल में आवारा पशु बंद होने की सूचना मिलते ही प्रशासन में हड़कंप मच गया। मामला जानी ब्लॉक के प्राथमिक विद्यालय काजमाबाद गून का है। ग्रामीँणों का आरोप था कि आवारा पशुओं के चलते फसल बर्बाद हो रही है। स्कूल के अध्यापको और छात्रों को इसका खामियाजा भुगतना पड़ा स्कूल के सामने सड़क पर बैठकर छात्र पढ़ रहे हैं।

प्रशासन की गौवंश के विरूद्ध की जाने वाली कार्यवाही में शिथिलता बरते जाने के चलते किसानों की आवारा पशुओं से खेतों में फसले बर्बाद हो रही हैं। दर्जनभर से अधिक ग्रामीण एकत्र होकर खेतों से आवारा पशुओं को गांव के सरकारी स्कूल में खदेड़ दिया और उसका गेट बंद कर दिया। आवारा पशुओं को सरकारी स्कूल में बंद होने की सूचना पर मौके पर पहुंची पुलिस ने किसानों से पशुओं को सरकारी स्कूल से बाहर निकालकर उन्हें गोशाला में भेजने को कहा। लेकिन किसानों व पुलिसकर्मियों के बीच जमकर नोकझोंक हो गयी और ग्रामीणों ने हंगामा करना शुरू कर दिया। किसानों का कहना है कि आवारा पशु एकत्र होकर खेतों में जाकर फसल को बर्बाद कर रहे हैं।

Share it
Top