50 हजार इनामी राजू बावरिया समेत तीन बदमाश पुलिस मुठभेड़ में गिरफ्तार

50 हजार इनामी राजू बावरिया समेत तीन बदमाश पुलिस मुठभेड़ में गिरफ्तार




कानपुर। प्रदेश में अपराधियों के खिलाफ चलाए जा रहे अभियान के तहत कानपुर पुलिस को बड़ी सफलता हाथ लगी है। पुलिस ने मंगलवार को हरियाणा के 50 हजार रुपये के इनामिया बदमाश राजू बावरिया को मुठभेड़ के दौरान धर दबोचा है। साथ में दो अन्य बदमाशों को भी पुलिस ने दबोचा है। वहीं, एक बादमाश भागने में सफल रहा।

पुलिस अधीक्षक पूर्वी राजकुमार अग्रवाल ने मंगलवार को खुलासा करके बताया कि चकेरी इंस्पेक्टर रणजीत राय को मुखबिर से सूचना मिली कि राजू बावरिया कई दिनों से थानाक्षेत्र में रुका हुआ है और किसी घटना के इंतजार में है। जिसके बाद आगरा की टीम से संपर्क किया गया। मुखबिर की सूचना पर बताए गये स्थान पर पुलिस ने सोमवार की रात में घेराबंदी की। पुलिस टीम को शताब्दी गार्डन के पास दो बाइक सवार आते दिखे। उन्हें रुकने के लिए बोला गया, लेकिन वे नहीं रूके और पुलिस पर दो राउंड फायर कर दिये। इस पर पुलिस ने भी आत्मसुरक्षा खातिर फायरिंग की।

राजकुमार अग्रवाल ने बताया कि पुलिस की फायरिंग से 50 हजार का इनामी राजू बावरिया घायल हो गया। उसके दाहिने पैर में गोली लगी है। पुलिस ने राजू के साथ उसके दो साथी प्रेम सिंह और आजाद को धर दबोचा। वहीं एक अभियुक्त भागने में सफल रहा। पुलिस को इनके पास से 30 हजार की नकदी, एक बाइक, एक पिस्टल और तीन कारतूस बरामद हुए हैं। घायल बदमाश का इलाज पुलिस अभिरक्षा में कांशीराम अस्पताल में चल रहा है। उन्होंने कहा कि आगे की विधिक कार्यवाही की जा रही है।

पुलिस अधीक्षक ने बताया कि राजू बावरिया मूलतः हरियाणा का रहने वाला है। उत्तर प्रदेश के गोंडा जनपद से 50 हजार रुपये का इनामिया है। गोंडा, अयोध्या, कानपुर और प्रतापगढ़ में कई घटनाओं को अंजाम दिया है। प्रतापगढ़ में 2017 में साथियों संग कैश वैन को लूटने का प्रयास किया और गार्ड की हत्या कर दी थी। 2017 में ही गोंडा के कोतवाली क्षेत्र में कैश वैन से 50 लाख की लूट की थी। अयोध्या के तीन थानाक्षेत्रों में बैंक ऑफ बड़ौदा, ग्रामीण बैंक और एसबीआई को लूटने का प्रयास किया था। इसी तरह 2018 में प्रतापगढ़ में दिनदहाड़े एक बैंक को लूटा था। पुलिस अधीक्षक ने बताया कि भागे हुए अभियुक्त की गिरफ्तार के लिए पुलिस टीम दबिश दे रही है।


Share it
Top