पार्टी विरोधी गतिविधियों में लिप्त रहने के कारण पूर्व विधायक रुचिवीरा बसपा से निष्कासित

पार्टी विरोधी गतिविधियों में लिप्त रहने के कारण पूर्व विधायक रुचिवीरा बसपा से निष्कासित


बिजनौर। बसपा ने पूर्व विधायक रुचिवीरा को पार्टी से निष्कासित कर दिया है। उधर, सपा ने उनके करीबी प्रमोद कुमार व दिलशाद अंसारी को भी बाहर का रास्ता दिखा दिया। रुचिवीरा हाल ही में पार्टी में शामिल हुईं थीं।

पूर्व विधायक रुचिवीरा को बसपा ने लोकसभा बिजनौर का प्रभारी बनाया था। इसके बाद उनके लोकसभा चुनाव लड़ने की संभावना तेज हो गई थी, लेकिन पार्टी हाईकमान ने अनुसूचित जाति के एक परिवार के विरोध का संज्ञान लेते हुए रुचिवीरा को तीन दिन में ही लोकसभा प्रभारी के पद से हटा दिया था। इसके बाद चांदपुर के पूर्व विधायक इकबाल ठेकेदार को पार्टी ने लोकसभा बिजनौर का प्रभारी बना दिया।

बहुजन समाज पार्टी के जिलाध्यक्ष राजेंद्र सिंह ने प्रेस को जारी विज्ञप्ति में बताया कि हाईकमान के निर्देश पर पूर्व विधायक रुचिवीरा को पार्टी विरोधी गतिविधियों में लिप्त रहने के कारण पार्टी से निष्कासित कर दिया है। उधर, समाजवादी पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष नरेश उत्तम पटेल ने समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव की अनुमति से बिजनौर समाजवादी पार्टी के पूर्व विधानसभा अध्यक्ष बिजनौर प्रमोद कुमार तथा पूर्व नगर अध्यक्ष बिजनौर दिलशाद अंसारी को पार्टी विरोधी गतिविधियों में लिप्त रहने के कारण तथा अनुशासनहीनता आचरण के कारण पार्टी से निष्कासित कर दिया है।

Share it
Top