124 उपनिरीक्षकों को दी नई जिम्मेदारी, लोकसभा चुनाव से पहले कानून व्यवस्था चुस्त दुरुस्त रखने को उठाया कदम

124 उपनिरीक्षकों को दी नई जिम्मेदारी, लोकसभा चुनाव से पहले कानून व्यवस्था चुस्त दुरुस्त रखने को उठाया कदम


कानपुर। कानून व्यवस्था को चुस्त दुरुस्त बनाने और आगामी लोकसभा चुनाव के मद्देनजर कप्तान ने 124 उपनिरीक्षकों को इधर से उधर कर नई जिम्मेदारी सौंपी है। इनमें कई लम्बे समय से एक ही जगह पर तैनात थे।

लोकसभा चुनाव नजदीक आ रहे हैं। ऐसे में चुनाव से पहले कानून व्यवस्था को हर मोर्चे पर चुस्त दुरुस्त करने के लिए वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक अनंत देव जुट गए हैं। उन्हें कुछ चौकी प्रभारियों के खिलाफ शिकायत मिल रही थी। शिकायत में क्षेत्र में बढ़ते अपराध के साथ नेताओं से सांठगाठ का भी जिक्र किया जा रहा था। इसके चलते सोमवार को देर शाम उन्होंने महाराजपुर एसओ रवि शंकर त्रिपाठी सहित कुलगांव चौकी प्रभारी उप निरीक्षक आलोक तिवारी, उप निरीक्षक धर्मेन्द्र कुमार को लाइन हाजिर कर दिया। इसके बाद मंगलवार को तबादले की लंबी सूची जारी कर दी।

वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक ने बताया कि 124 उपनिरीक्षकों को नई जिम्मेदारी दी गयी है। इनमें 15 उपनिरीक्षकों को पुलिस लाइन से थानों में भेजा गया है। बताया कि 54 चौकी प्रभारियों के कार्यक्षेत्र में बदलाव किया गया है। इसके साथ ही अन्य दारोगाओं को इधर से उधर भेजा गया है। जिन चौकी प्रभारियों से जिम्मेदारी छीनी गयी है वह लोग काफी दिनों से एक ही जगह पर टिके हुए थे।

कप्तान द्वारा एक साथ इतने बड़े तबादले से यह माना जा रहा है कि यह अपराधियों पर और शिंकजा कसने के उद्देश्य से किया गया है। हालांकि कानपुर पुलिस की अपराधियों से मुठभेड़ लगातार जारी है, जिसमें कई अपराधी घायल होकर जेल की सलाखों के पीछे पहुंच चुके हैं। ऐसी मुठभेड़ों को आम बोलचाल में हाफ एनकांउटर कहा जा रहा है, क्योंकि इसमें अपराधी मुठभेड़ में मारा नहीं जाता। वह पुलिस की गोली से घायल होकर पकड़ा जाता है।


Share it
Top