मायके में हुई 10 मिनट की देरी तो पति ने फोन पर दिया 'तीन तलाक'

मायके में हुई 10 मिनट की देरी तो पति ने फोन पर दिया तीन तलाक


एटा। जनपद के नयागंज थानाक्षेत्र में मंगलवार को तीन तलाक का मामला सामने आया। पीड़ित महिला ने थाने में तहरीर देकर न्याय की गुहार लगाई है। पुलिस ने महिला को सांत्वना देकर कार्रवाई का भरोसा दिया है।

पीड़ित महिला शुम्बुल ने थाने में तहरीर देते हुए बताया कि वह नयागंज के अलीपुर गांव की रहने वाली है। डेढ़ वर्ष पहले उसकी शादी गांव के ही रहने वाले अफरोज से हुई थी। उसका आरोप है कि हैदराबाद में एक निजी कंपनी में कार्यरत पति अतिरिक्त दहेज के लिए उसके पिता मुनब्बरखां को परेशान करता रहा है। पति व ससुरालीजनों की मारपीट के चलते उसके गर्भ में पल रहे सात माह के शिशु की भी करीब छह माह पूर्व मौत हो चुकी है।

आरोप है कि शुम्बुल के दादी की तबीयत खराब होने पर शुम्बुल ने 18 जनवरी को पति को फोन कर मायके जाने की इजाजत मांगी। पति ने उसे आधा घंटे रुक कर लौट आने की हिदायत देते हुए मायके जाने की अनुमति दे दी। लेकिन मायके में वह 10 मिनट अधिक रुक गई। इस पर उसका देवर गुल्लू मोबाइल लेकर उसके मायके जा पहुंचा और पति से बात करने को कहा। उसके मोबाइल पर बात करते ही पति ने उसे 'तीन तलाक' दे दिया। पति की तलाक के बाद शुम्बुल अपनी ससुराल पहुंची तो वहां भी उसे मारपीट कर भगा दिया गया।

आरोप है कि वहां सास समीना व जेठ इसरत हुसैन ने उसके साथ मारपीट की तथा उसे घर से निकाल दिया। शुम्बुल ने करीब एक सप्ताह पंचायत आदि कराने के बाद वहां से निराश होकर नयागांव थाने में तहरीर दर्ज कराई। थाना प्रभारी ने बताया कि तहरीर के आधार पर मुकदमा दर्ज कर विवेचना की जा रही है।


Share it
Top