महंत के हत्यारों की जल्द गिरफ्तारी नहीं होने पर करेंगे आंदोलन, अपनी हत्या की साजिश रचने का लगाया आरोप-मौनी स्वामी

महंत के हत्यारों की जल्द गिरफ्तारी नहीं होने पर करेंगे आंदोलन, अपनी हत्या की साजिश रचने का लगाया आरोप-मौनी स्वामी


अपनी हत्या की साजिश रचने का लगाया आरोप

रायबरेली। रामजानकी मंदिर आश्रम के पीठाधीश्वर स्वामी मौनी बाबा ने कहा है कि उनकी हत्या की साजिश रची जा रही है और इसमें प्रदेश सरकार के एक कैबिनेट मंत्री भी शामिल हैं। उन्होंने बुधवार को आश्रम के महंत की हत्या में भी इन्ही तत्वों का हाथ होना बताया और कहा कि इसके पीछे मंत्री का करीबी भूमाफिया मुख्य रुप से शामिल है, जो आश्रम की बेशकीमती जमीनों पर अवैध रूप से काबिज है। इसका स्वामी प्रेमदास विरोध करते थे। एक वर्ष पूर्व न्यायालय ने भी जमीनों पर से अवैध कब्जा हटाने का आदेश दिया था, लेकिन प्रशासन की लापरवाही से अपराधियों के हौसले बुलंद हो गए और उन्होंने महंत की हत्या कर दी।

उन्होंने गुरुवार को बातचीत में कहा कि 21 दिसम्बर को वह आश्रम के पीठाधीश्वर बने, इसी से बौखलाए भू माफिया ने दूसरे दिन ही उनके सगरा आश्रम में जाकर जान से मारने की धमकी देते हुए मामले से दूर रहने को कहा था। इसकी शिकायत उन्होंने पुलिस अधीक्षक और जिलाधकारी से की थी, लेकिन लापरवाही से मामले को लिया गया जिसकी परिणिति महंत की मौत से हुई।

मौनी बाबा ने चेतावनी देते हुए कहा कि स्वामी प्रेमदास की हत्या पर प्रशासन ने नामजद मुकदमा दर्ज किया है और इन अपराधियों को शीघ्र गिरफ्तार किया जाना चाहिए अन्यथा संत और समाज मिलकर बड़ा आंदोलन करेंगे जिसकी सारी जिम्मेदारी प्रशासन की होगी। [रॉयल बुलेटिन अब आपके मोबाइल पर भी उपलब्ध,ROYALBULLETIN पर क्लिक करें और डाउनलोड करे मोबाइल एप ]


गौरतलब है कि बुधवार को रामजानकी मंदिर आश्रम में मुख्य गेट के छज्जे पर महंत का शव लटका मिला था। इसके बाद हुए बवाल के मद्देनजर शासन ने संज्ञान लेते हुए आईजी और कमिश्नर को भेजा था। आठ घंटे तक हुए हंगामे के बाद कई बिंदुओं की सहमति के हंगामा खत्म हुआ। अब प्रशासन के लिए नामजद आरोपियों की गिरफ्तारी एक चुनौती बनी हुई है, जिसको लेकर सन्त समाज लामबंद हो रहे हैं।


Share it
Top