पति को इंसाफ दिलाने में बुजुर्ग काे लगे 16 साल, हत्या का मामला दर्ज

पति को इंसाफ दिलाने में बुजुर्ग काे लगे 16 साल, हत्या का मामला दर्ज


रायबरेली । उत्तर प्रदेश के रायबरेली में पति की हत्या का मुकदमा लिखवाने के लिये पिछले 16 सालों से दर दर भटक रही एक बुजुर्ग महिला को न्याय की उम्मीद बंधी जब न्यायालय के हस्तक्षेप के बाद महराजगंज पुलिस ने हत्या का मामला दर्ज कर लिया।

दरअसल, कौशल्या नामक इस 70 वर्षीय महिला के पति राम शंकर दयाल की 22 दिसम्बर 2002 को संदिग्ध परिस्थितियों में मृत्यु हो गयी थी। श्री दयाल क्षेत्र के एक कस्बे में रामजानकी मंदिर के संस्थापक थे। पोस्टमार्टम रिपोर्ट के अनुसार दयाल की मृत्यु का कारण जहर का सेवन निकला था।

इस बारे में महिला ने अपने ही भतीजे पर प्रॉपर्टी हथियाने के लिए जहर देकर मारने का संगीन आरोप लगाया था लेकिन बड़ी रसू़ख के चलते आरोपी के विरुद्ध मुकदमा दर्ज नही हो सका था मगर पति को इंसाफ दिलाने की दृढ इच्छा मन में लिये महिला ने मुकदमा दर्ज करवाने के लिए आलाधिकारियों के साथ साथ नेताओ की चौखट में अपनी एड़ियां घिसी मगर हर एक ने उसे टरका दिया।

थकहार कर वृद्धा ने इस सिलसिले में न्यायालय की शरण ली जिसके आदेश के बाद शुक्रवार को महराजगंज कोतवाली में हत्या का मुकदमा दर्ज हो सका है। पुलिस ने बताया कि मामले की जांच जारी है जिसके बाद कार्रवाई की जायेगी।


Share it
Top