योगी की सिफारसी पत्र लेकर 7 वर्षों से जमीन के लिए भटक रहा परिवार

योगी की सिफारसी पत्र लेकर 7 वर्षों से जमीन के लिए भटक रहा परिवार


बलरामपुर। केन्द्र व प्रदेश सरकारी की सैकड़ों योजनाओं के बाद भी कई लोग अधिकारियों की उदासीनता के कारण भटक रहे हैं। अपने मकान का सपना लिये जिले के देवीपाटन गांव के रहने वाले राम अवतार अधिकारियों के घनचक्र से परेशान हैं। उनका मकान किन्ही कारणों से बिक जाने के कारण तीस वर्षों से किराये के मकान में रह रहे हैं।

वे एक जमीन के टूकड़े के लिए दर्जनों प्रार्थना पत्र तहसील दिवस,जिलाधिकारी कार्यालय दे चुके हैं। वर्ष 2011 में तत्कालीन गोरखपुर सांसद वर्तमान में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ देवीपाटन में अस्पताल के उद्घाटन के दौरान भूमिहीन परिवार को चिठ्ठी लिखी थी। वह चिठ्ठी आज भी पीड़ित लेकर दौड़ रहा है। अधिकारी जमीन जल्द मिलने की बात कह कर टरका देते हैं।

पीड़ित राम अवतार ने बताया कि गरीबी के कारण उसका मकान बिक गया था। बीते दस वर्षों से जमीन के लिए चक्कर काट रहे हैं। मजदूरी करके अपने परिवार का पालन पोषण करते हैं। तीस वर्षों से किराये के मकान में रह रहे हैं। उनके पास कोई खेती पाती भी नहीं है। कहा कि योगी जी के मुख्यमंत्री बनने के बाद एक उम्मीद जगी थी, लेकिन उनकी लिखी चिट्ठी भी कई बार दे चुके हैं। हर बार सिर्फ दिलाशा मिलता है।


Share it
Top