एटा: एसडीएम ने किया करोड़ों की सरिया चोरी का खुलासा

एटा: एसडीएम ने किया करोड़ों की सरिया चोरी का खुलासा



एटा। एटा जनपद मुख्यालय से करीब 15 किलोमीटर दूर निर्माणाधीन जवाहर तापीय परियोजना के लिए आ रहे सरिया में प्रतिदिन 10 लाख की सरिया चोरी किए जाने का सनसनीखेज मामला सामने आया है। एटा के उप जिलाधिकारी द्वारा बाइक पर बैठकर की गई छापामारी में 10 चालक-परिचालकों तथा 14 ट्रकों को जब्त किया गया है।

एटा के उपजिलाधिकारी ज्वाइंट मजिस्ट्रेट महेंद्र सिंह तंंवर को सूचना मिली कि जवाहर तापीय परियोजना के लिए आ रही सरिया मैं करीब 10 लाख रुपये की सरिया प्रतिदिन निजी गोदामों में उतारी जा रही है। सूचना के बाद ज्वाइंट मजिस्ट्रेट जब बाइक से मानपुर नगरिया स्थित एक निजी गोदाम पर पहुंचे तो वहां का दृश्य देख भौचक रह गए। वहां आधा किलो मीटर क्षेत्र में सरिया भरे करीब 14 ट्रक खड़े हुए थे तथा एक ट्रक से ट्रैक्टर में सरिया खींंची जा रही थी।

एसडीएम की पूछताछ में सामने आया कि कर्नाटक की जेेेएसडब्ल्यू कंपनी से एक ट्रक में आई 30 टन सरिया में से इस गोदाम में 1 से 2 टन सरिया धर्म कांटे पर बजन कराने के बाद उतार ली जाती है। एक टन सरिया का बाजार मूल्य करीब 50 हजार रुपये है, अतः अनुमान है कि करीब 10 लाख रुपए प्रतिदिन की सरिया चोरी की जा रही है। मामले की जानकारी कोतवाली पुलिस को दे दिए जाने के बाद मौके पर पहुंची कोतवाली देहात पुलिस ने 10 चालक-परिचालकों तथा 14 ट्रकों को कब्जे में लिया है।

एसडीएम की मानें तो इस मामले में अधिकारियों की शह भी प्रतीत हो रही है। उनका कहना है कि उनके द्वारा जानकारी दिए जाने पर भी करीब 1 घंटे तक कोई अधिकारी मौके पर नहीं पहुंचा। वहीं कुछ चालकों का भी यही आरोप था ।

सरिया गोलमाल में गाजियाबाद के एक गिरोह का हाथ सामने आया है। बताया गया है कि गाजियाबाद-नोएडा के लोग स्थानीय व्यापारियों के सहयोग से यह कारोबार कर रहे हैं। एक ट्रक चालक ने अपनी आपबीती सुनाते हुए बताया कि जब वह ट्रक को नहीं रोकता तो एक आल्टो गाड़ी आगे लगाकर ट्रक को रोक उसे जबरन गोदाम में लोग ले जाते हैं। वहीं न ले जाने पर चालकों की बुरी तरह पिटाई की जाती है। ट्रक चालक के अनुसार सरिया उतारे जाने पर 1000 रुपये प्रति कुंटल के हिसाब से पैसा दिया जाता है | एसडीएम के अनुसार इस मामले में धर्मकांटे को भी संदेेेह में रखा जा रहा है। कुछ चालकों का आरोप है कि धर्म कांटे पर कम सरिया होने के बावजूद पूरे बजन की रसीद दी जा रही है। मामले में गोदाम का मुनीम नाजिम तथा गोदाम मालिक बताया जा रहा राजेंद्र फरार हो चुके हैं। यह पूरी परियोजना निशान कंपनी द्वारा स्थापित की जा रही है और प्रशासन की दृष्टि में वह भी संदेह के घेरे में है।


Share it
Share it
Share it
Top