सेवानिवृत्त डीआईजी के बेटे ने गोली मारकर की आत्महत्या

सेवानिवृत्त डीआईजी के बेटे ने गोली मारकर की आत्महत्या


इलाहाबाद। कैन्ट थाना क्षेत्र के म्योराबाद मोहल्ले में वृहस्पतिवार की सुबह सेवानिवृत्त डीआईजी के बेटे ने घर के अन्दर अपनी लाइसेंसी बन्दूक से गोली मारकर आत्महत्या कर ली। आत्महत्या की वजह घरेलू कलह मानी जा रही है।

कैन्ट के म्योराबाद निवासी सेवानिवृत्त डीआईजी राम आधार के पांच बच्चों में 48 वर्षीय आलोक प्रकाश दूसरे नम्बर का बेटा था। एक भाई लखनऊ में उपनिबंधक के पद पर कार्यरत है और एक भाई प्रोफसर है। सबसे छोटा आशुतोष प्रकाश पूर्व ब्लाक प्रमुख बहादुरपुर है। आलोक प्रकाश नहर ददोली स्थित पेट्रोल पम्प का काम देखता था। उसके बेटा और एक बेटी है। गुरुवार की सुबह लगभग ग्यारह बजे उसकी पत्नी सरिता सहित पूरे परिवार के लोग घर में मौजूद थे। आलोक प्रकाश किसी बात से क्षुब्ध होकर अपने कमरे में गया और अन्दर दरवाजा बन्द करके अपनी लाइसेंसी बन्दूक से गोली मार ली।

गोली की आवाज सुनकर परिवार के लोग उसके कमरे के पास गये तो दरवाजा बन्द था। घटना की सूचना परिजनों ने पुलिस को दी। पुलिस ने जब दरवाजा खोला तो वह जमीन पर लहूलुहान मिला और पास में ही उसकी लाइसेंसी बन्दूक पड़ी हुई थी। पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर विधिक कार्रवाई की। क्षेत्राधिकारी सिविल लाइंस श्रीश्चन्द्र ने बताया कि परिवार के लोग आत्महत्या की वजह बताने की स्थिति में नहीं है। शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया है। मामले की जांच शुरू कर दी गई है।

Share it
Top