मेरठ: यूपी में आधार मजबूत करने निकली 'आप'

मेरठ: यूपी में आधार मजबूत करने निकली आप


मेरठ। दिल्ली में सत्ता हासिल करने और पंजाब में प्रभावी मौजूदगी दर्ज कराने के अलावा आम आदमी पार्टी दूसरे राज्यों में कुछ खास नहीं कर पाई है। हालांकि अब आम आदमी पार्टी ने लोकसभा चुनाव नजदीक देखकर अपनी उपस्थिति बढ़ानी शुरू कर दी है। इसके लिए उत्तर प्रदेश को लक्ष्य बनाकर पदयात्रा शुरू की गई है। मंगलवार की रात आप की पदयात्रा ने मेरठ में विश्राम किया। बुधवार को यह यात्रा आगे रवाना होगी।आम आदमी पार्टी के पश्चिमी उत्तर प्रदेश के संयोजक सोमेंद्र ढाका एडवोकेट ने बताया कि किसानों, नौजवानों, हाईकोर्ट बेंच की स्थापना, सूबे में बदहाल कानून व्यवस्था आदि मुद्दों को लेकर आम आदमी पार्टी के कार्यकर्ता सहारनपुर से लेकर दिल्ली तक पदयात्रा पर निकले हैं। इस पदयात्रा का नेतृत्व राज्यसभा सांसद संजय सिंह कर रहे हैं। पदयात्रा के दौरान पार्टी नेताओं ने किसानों, युवाओं से भी सीधा संवाद किया है। लोग आम आदमी पार्टी की नीतियों से प्रभावित हो रहे हैं।

यह पदयात्रा सहारनपुर से चलकर शामली, मुजफ्फरनगर जनपद होते हुए मोदीपुरम पहुंची है। इस पदयात्रा का पार्टी नेताओं और जगह-जगह शहर के लोगों ने स्वागत किया और यात्रा को समर्थन दिया। पल्लवपुरम फेस-1 में रात्रि विश्राम के बाद बुधवार को मेरठ में कमिश्नरी पार्क में जनसभा का आयोजन होगा। इस पदयात्रा का परतापुर, मोदीनगर, गाजियाबाद होते हुए नोएडा में पहुंचकर आठ सितंबर को समापन होगा। पदयात्रा में पंकज पाठक, मेरठ जिलाध्यक्ष शैलेंद्र गौड़, गुरमिंदर सिंह, समर कुमार, दिल्ली से विधायक नरेश बालियान, राजेश ऋषि, पार्षद रमेश मटियाला, निर्मला कुमारी, शिमलाश्री, मनीष सिंह, फारूक किदवई, प्रवीण कुमार, नरेंद्र गिरिशा, किशनवती, जितेंद्र आदि शामिल हैं।

बारिश बनेगी जनसभा में बाधा : आम आदमी पार्टी के राष्ट्रीय प्रवक्ता और सांसद संजय सिंह की बुधवार को कमिश्नरी चौराहा स्थित चैधरी चरण पार्क में जनसभा होगी, लेकिन बुधवार सुबह से ही भारी बारिश को देखते हुए जनसभा के आसार कम हो गए हैं। बारिश से जनसभा में बाधा आने की आशंका है। नोएडा में पदयात्रा के समापन पर खुद दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल शामिल होंगे। सोमेंद्र ढाका ने बताया कि पदयात्रा के दौरान कई अहम समस्याओं को उठाया गया है। इनमें शिक्षा मित्र, आंगनबाड़ी कार्यकत्रियों को नियमित करने, बेरोजगार युवाओं को नौकरी देने, महिलाओं-बेटियों को सुरक्षा, किसानों की कर्ज माफी, पुरानी पेंशन की बहाली, पश्चिमी उत्तर प्रदेश में हाईकोर्ट बेंच की स्थापना, संविदाकर्मियों को नियमित करने आदि की मांग शामिल है।


Share it
Share it
Share it
Top