बदमाश के परिजनों का हंगामा, पुलिस पर फर्जी मुठभेड़ का आरोप

बदमाश के परिजनों का हंगामा, पुलिस पर फर्जी मुठभेड़ का आरोप



मेरठ। खरखौदा क्षेत्र में सोमवार को मुठभेड़ के दौरान घायल गिरफ्तार किए गए 25 हजार के इनामी बदमाश शमशाद के परिजनों ने मंगलवार को एसएसपी कार्यालय पर जमकर हंगामा किया। बदमाश के परिजनों ने खरखौदा पुलिस पर शमशाद को फर्जी मुठभेड़ दिखाकर गिरफ्तार किए जाने का आरोप लगाया है।

सोमवार की अलसुबह हापुड़ रोड स्थित अल्लीपुर गांव में गोकशों ने तीन गाय काट डाली थीं। ग्रामीणों द्वारा घिरने पर बदमाश फायरिंग करते हुए फरार हो गए थे। कॉम्बिंग में जुटी पुलिस और क्राइम ब्रांच की टीम ने दोपहर को धनौटा के जंगल में मुठभेड़ बाद 25 हजार के इनामी बदमाश सरूरपुर के हर्रा गांव निवासी शमशाद पुत्र शाहबुद्दीन को गिरफ्तार किया था। मुठभेड़ के दौरान पैर में गोली लगने से घायल शमशाद को अस्पताल में भर्ती कराया गया था।

मंगलवार को शमशाद के दर्जनों परिजन और ग्रामीण एसएसपी कार्यालय पहुंचे। उन्होंने हंगामा करते हुए खरखौदा पुलिस पर शमशाद को फर्जी मुठभेड़ दिखाकर गिरफ्तार किए जाने का आरोप लगाया। बदमाश के परिजनों के मुताबिक खरखौदा पुलिस शमशाद को पूछताछ के लिए घर से उठाकर ले गई थी। इसके बाद पुलिस ने उसे एनकाउंटर में गिरफ्तार दिखा दिया। अधिकारियों ने मामले में जांच की बात कही है। वहीं, एसपी देहात राजेश कुमार ने बदमाश के परिजनों द्वारा लगाए गए आरोपों को निराधार बताया है।


Share it
Top