चटकी पटरी से गुजरी अवध एक्सप्रेस, हादसा टला

चटकी पटरी से गुजरी अवध एक्सप्रेस, हादसा टला



24 घंटे में दूसरी बार झींझक स्टेशन के पास चटकी पटरी

कानपुर। दिल्ली हावड़ा रूट मार्ग पर स्थित झींझक स्टेशन के पास दूसरे दिन भी पटरी चटक गयी। गनीमत रही कि टूटी पटरी से गुजरने वाली अवध एक्सप्रेस हादसे से बाल-बाल बच गयी। जानकारी पर आनन-फानन में रेलवे कर्मचारियों ने रूट को रोककर पटरी को सही कराया। हालांकि अभी पटरी बदलने का काम बाकी है। इस दौरान कानपुर जाने वाली कई ट्रेनों को रोक दिया गया। दूसरे दिन पटरी चटकने से कहीं न कहीं साजिश की ओर इशारा हो रहा है।

कानपुर देहात जनपद के झींझक रेलवे स्टेशन से शनिवार को सुबह करीब पौने सात बजे मुम्बई से कानपुर की ओर जा रही अवध एक्सप्रेस धड़धड़ाते हुए गुजर गयी। ट्रेन के निकलने के बाद वहां पर पेट्रोलिंग कर रहे कीमैन कृष्ण लाल की नजर चटकी पटरी पर पड़ी तो उसके होश उड़ गये और झींझक स्टेशन मास्टर रवि वर्मा को जानकारी दी। स्टेशन मास्टर ने चटकी पटरी की जानकारी उच्चाधिकारियों को दी, जिसके बाद आनन-फानन में कानपुर की ओर जाने वाली ट्रेनों को जहां का तहां रोक दिया गया और पीडब्ल्यूआई स्टॉफ को जानकारी दी गयी। जानकारी पर पहुंचे पीडब्ल्यूआई स्टॉफ ने चटकी पटरी को फिस प्लेट से कस कर ठीक किया। इसके बाद धीमी गति से ट्रेनों का संचालन शुरू कराया जा सका।

पीडब्ल्यूआई सियाराम बिंद ने बताया पटरी ज्वाइंट से चटक गई थी। उसको फिश प्लेट से कसकर ठीक कर दिया गया है। ब्लॉक मिलने पर चटकी पटरी के स्थान पर नई पटरी लगाई जाएगी। स्टेशन मास्टर झींझक ने बताया की खंभा नंबर 1080/33 व 35 के बीच चटकी पटरी से अवध एक्सप्रेस गुजर गई, गनीमत रही कि कोई हादसा नहीं हुआ। कहा अभी काशन लगाकर हमसफर एक्सप्रेस, मरुधर एक्सप्रेस, प्रयागराज एक्सप्रेस, पूर्वा एक्सप्रेस शिवगंगा एक्सप्रेस आदि ट्रेनों का संचालन किया जा रहा है और जल्द ही पटरी को बदला जाएगा। कहा, इस दौरान कैफियत एक्सप्रेस को दस मिनट तक झींझक रेलवे स्टेशन पर रोका गया। पटरी के बार-बार चटकने को देखते हुए मौके पर रेलवे कर्मियों को तैनात कर दिया गया है।

बताते चलें कि 24 घंटे पहले शुक्रवार को झींझक स्टेशन के ही पास खंभा नंबर 1079/30व 32 के बीच चटकी पटरी से फंफूद कानपुर पैसेंजर गुजर गई थी। इसके बाद दूसरे दिन शनिवार को इसी खंभे के पास अप लाइन पर पटरी चटक गयी। हालांकि रेलवे के कर्मचारी व अधिकारी इस पर ज्यादा कुछ बोलने को तैयार नहीं है, पर बराबर पटरी चटकने से कहीं न कहीं साजिश का इशारा हो रहा है।

पुखरायां और रूरू में हो चुका है भीषण हादसा

कानपुर देहात में नवंबर 2016 में पुखरायां स्टेशन के पास और दिसम्बर 2016 में रूरू स्टेशन के पास भीषण रेल हादसा हो गया था। जिसमें क्रमशः इंदौर पटना एक्सप्रेस और सियालदाह एक्सप्रेस बुरी तरह से छतिग्रस्त हो गयी थी। हालांकि रूरू हादसे में किसी की मौत नहीं हुई थी पर दो सौ से अधिक यात्री घायल हो गये थे। वहीं पुखरायां हादसे में दो सौ से अधिक यात्रियों की जान चली गयी थी। जिसकी जांच चल रही है, पर हादसे के दोषियों का पता नहीं चल सका। बताते चलें कि दोनों हादसों की जांच रिपोर्ट के शुरूआती चरण में आतंकी साजिश की बात सामने आयी थी। ऐसे में एक बार फिर लगातार दूसरे दिन रूरू स्टेशन के पास ही झींझक स्टेशन में टूटी पटरी मिली। जो कहीं न कहीं साजिश की ओर इशारा है।


Share it
Share it
Share it
Top