जौनपुर में साहित्यकार से वसूली करने वाला दरोगा लाइन हाजिर

जौनपुर में साहित्यकार से वसूली करने वाला दरोगा लाइन हाजिर


जौनपुर ।उत्तर प्रदेेश में जौनपुर के सिकरारा क्षेत्र में थाने के सामने साहित्यकार डाॅ0 अरुणेश नीरन की कार रोककर सीट बेल्ट न लगाने के आरोप में एक हजार रुपये की वसूली करने वाले दरोगा को पुलिस अधीक्षक ने लाइन हाजिर कर दिया है।

पुलिस सूत्रों ने शनिवार को यहां बताया कि देवरिया जिले के निवासी साहित्यकार डाॅ0 अरुणेश नीरन तथा देवरिया रामलीला समिति के अध्यक्ष मन्नन प्रसाद मित्रों के साथ कार से चित्रकूट जा रहे थे। इलाहाबाद रोड स्थित सीहीपुर क्रासिंग पर एक सिपाही ने उनकी गाड़ी रोक लिया। सिपाही ने कहा कि दरोगा को इलाहाबाद जाना है, आप लेते जाओ।

डाॅ0 नीरन ने कहा कि ठीक है साइड में गाड़ी रोकते हैं उन्हें बुला दो। जब कोतवाल नहीं आए तो उन्होंने अपनी गाड़ी आगे बढ़वा दी। अभी वह सिकरारा पहुंचे थे कि पुलिस ने उनकी गाड़ी रोक दी गयी। वहां पर एक होमगार्ड एवं सिपाही ने उनके साथ बदसलूकी की।

उन्होने बताया कि सिपाही ने कहा कि दरोगा ललित सिंह ने कहा है कि आफिस में जाकर एक हजार रुपया जमा करा दो। आफिस पहुचने पर मन्नन प्रसाद और उनके चालक ने डीएल, बीमा, गाड़ी का कागज, प्रदूषण का फिटनेस दरोगा को दिखाया तो उसने कहा कि सीट बेल्ट नहीं लगाए हो जुर्माना दो। इसके एवज में एक हजार सिकरारा थाने के दरोगा ने लिया और रसीद ऐसी दी जो कोई पढ़ नहीं सकता।

पुलिस अधीक्षक दिनेश पाल सिंह ने इस मामले का संज्ञान में लेते हुये इसकी जांच क्षेत्राधिकारी सदर को सौपी। जांच प्रारंभिक रिपोर्ट आने के बाद दरोगा ललित सिंह को लाइन हाजिर कर दिया गया।

श्री सिंह ने कहा कि इस मामले में एक दरोगा को लाइन हाजिर कर दिया गया है। रिपोर्ट आने के बाद अन्य पर कार्रवाई होगी।


Share it
Share it
Share it
Top