मुख्यमंत्री के सभा स्थल से चोरी हुआ विदेशी शौचालय, एसपी ने लिया संज्ञान

मुख्यमंत्री के सभा स्थल से चोरी हुआ विदेशी शौचालय, एसपी ने लिया संज्ञान


कानपुर। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की सभा स्थल से लाखों का विदेशी शौचालय चोरी हो गया। मुख्यमंत्री से मामला जुड़ा होने के चलते पुलिस फर्म मालिक को चौकी और थाने के चक्कर कटवाती रही। लेकिन अब पुलिस अधीक्षक पश्चिमी ने मामले को संज्ञान में ले लिया है और कहा कि शौचालय ले जाने वालों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और केन्द्रीय मंत्री नितिन गडकरी सहित कई मंत्री 13 अगस्त को नमामि गंगे कार्यक्रम में शहर आये हुए थे। जिसकी तैयारियों के तहत जिला प्रशासन ने कार्यक्रम स्थल चन्द्रशेखर आजाद कृषि प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय में एक फर्म के जरिये 10 विदेशी मोबाइल शौचालय लगवाया था। इनमें दो शौचालय मुख्यमंत्री व अन्य अतिथियों के लिये लगाये गये थे। यह सभी आधुनिक मोबाइल शौचालय थे जो विदेश से मंगाये गये हैं और इनमें एक शौचालय की कीमत करीब दो लाख रूपए से अधिक है। लेकिन जब कार्यक्रम के खत्म होने के बाद अगले दिन फर्म मालिक राहुल भाटिया के कर्मचारियों ने सामान बटोरा तो एक मोबाइल शौचालय गायब था। जिसकी जानकारी कर्मचारियों ने तत्काल मालिक को दी और मालिक ने चन्द्रशेखर आजाद कृषि प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय (सीएसए) प्रबंधन और प्रशासनिक अफसरों को दी। जिससे सीएसए प्रबंधन और अफसर सन्न रह गये और चुप्पी साध ली।

इसके बाद से लगातार फर्म मालिक नवाबगंज थाना और सीएसए पुलिस चौकी के चक्कर लगा रहा था पर कोई रिपोर्ट लिखने को इसलिये तैयार नहीं है कि मामला मुख्यमंत्री से संबंधित है।

मामले की जानकारी पर मंगलवार को पुलिस अधीक्षक पश्चिमी पश्चिमी संजीव सुमन से बातचीत की तो कहा कि अभी तो मैं दिल्ली में हूं पर नवाबगंज थाना में मामले को देख लेने के लिए बोल रहा हूं। कहा कि बुधवार को शहर आ जाऊॅंगा और हर हाल में शौचालय चोरी करने वालों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी।

पुलिस अधीक्षक के बाद जब नवाबगंज थानाध्यक्ष से बात की गयी तो अपनी बचत के लिए कहा फर्म मालिक हमारे पास आया ही नहीं है, अगर आता है तो एफआईआर लिखकर जरूर आगे की कार्रवाई की जाएगी। फर्म मालिक राहुल भाटिया का कहना है कि सीएसए प्रबंधन और प्रशासनिक अफसरों से संपर्क किया। जिसके बाद सीएसए प्रबंधन ने वीडियो फुटेज देखा तो उसमें एक लोडर में मोबाइल शौचालय लादकर ले जाते कुछ लोग नजर आये। यह फुटेज 14 अगस्त की शाम साढ़े सात बजे की थी। इसके बाद रिपोर्ट लिखाने नवाबगंज थाना गया तो वहां पर मामला सीएसए का होने के चलते सीएसए चौकी के लिए टरका दिया और सीएसए चौकी इंचार्ज ने थाने के लिए टरका दिया। कहा, छह दिन से लगातार थाना और चौकी के चक्कर कटवाया जा रहा है।

सीएसए के निजी सुरक्षा पर लगा प्रश्न चिन्ह

सीएसए में सुरक्षा की लिहाज से हर गेट पर गार्ड मौजूद है और प्रत्येक आने-जाने वाले वाहन का नंबर नोट किया जाता है। लेकिन राहुल भाटिया के मुताबिक वीडियो फुटेज में जो लोडर मोबाइल शौचालय लादकर ले जा रहा है उसका नंबर गेट पर लगे सुरक्षा गार्ड के रजिस्टर में दर्ज नहीं है। ऐसे में सीएसए के निजी सुरक्षा पर भी प्रश्न चिन्ह लगता दिख रहा है।


Share it
Top