मुरादाबाद में ट्रेन से कटकर तीन बहनों की मृत्यु

मुरादाबाद में ट्रेन से कटकर तीन बहनों की मृत्यु



मुरादाबाद। उत्तर प्रदेश में मुरादाबाद के कटघर क्षेत्र में सावन के आखिरी सोमवार को जलाभिषेक करने जा रहीं तीन बहनों की ट्रेन से कटकर मृत्यु हो गयी। हादसे से आक्रोशित ग्रामीणों की भीड़ ने रेल ट्रैक जाम कर जमकर हंगामा किया और पटरियाें को क्षतिग्रस्त करने की कोशिश की हालांकि पुलिस के आला अधिकारियों ने मौके पर पहुंच कर स्थिति को नियंत्रित कर लिया।

पुलिस सूत्रों ने बताया कि मछरियां गांव के पास यह हादसा उस समय हुआ जब क्षेत्र में ऊंचा गांव निवासी शीतल (11), शिवानी (6) और मानवी (4) अल सुबह पड़ोस के गांव इन्धनपुर नगला में स्थित शिव मंदिर में जलाभिषेक करने जा रहीं थीं। तीनों गागन नदी पर बने रेल पुल से होकर जा रहीं थी कि तभी अप लाइन पर गाडी संख्या 14556 ऊना हिमाचल एक्सप्रेस धडधडाते हुये गुजरी। तीनों श्रद्धालु बहनों को यकायक कुछ नहीं सूझा क्योंकि नीचे नदी थी और सामने ट्रेन थी। तीनों बहनें ट्रैक पर गंगाजल से भरा लोटा हाथ में लिए स्थिर हो कर खड़ी हो गयीं और ट्रेन तीनों को काटते हुए चली गयी। तीनों आपस में चचेरी बहनें हैं।

संयुक्त परिवार की तीन किशोरियों की हादसे में मौत की खबर से गुस्साए परिजनों और ग्रामीणों की अनियंत्रित भीड ने रेल पटरियों पर धावा बोल दिया। पटरियों को क्षतिग्रस्त करने और रेल ट्रैक जाम करने के इरादे से उन्होने ट्रैक पर स्लीपर डाल दिए। सूचना पर पहुंची थाना पुलिस और जीआरपी ने परिजनों को किसी तरह समझा बुझा कर पटरियों को क्षतिग्रस्त होने से बचा लिया, भीड को शांत कर पुलिस ने तत्काल तीनों शवों को पोस्टमार्टम के लिए भिजवा दिया।

स्थानीय ग्रामीण अलग पुल बनाने की मांग को लेकर रेलवे ट्रैक पर धरने पर बैठे हैं। गांव में रहने वाले स्थानीय लोगों के मुताबिक हर रोज रेलवे पुल के जरिए दर्जनों गांवों के लोग अपने घरों को पहुंचते हैं. स्थानीय लोग कई बार पैदल पुल बनाने की मांग कर चुके हैं लेकिन आज तक उनकी मांगों पर कभी भी प्रशासन ने गंभीर प्रयास नहीं किए। हादसे के बाद पुलिस और प्रशासन के अधिकारी भी मौके पर पहुंचे हैं।


Share it
Top