मेरठ में बदमाशों ने दी DGP को खुली चुनौती

मेरठ में बदमाशों ने दी DGP को खुली चुनौती

मेरठ। उत्तर प्रदेश के मेरठ जिला में जहां शनिवार को प्रदेश के नए डीजीपी ओपी सिंह का दौरा था, एक तरफ डीजीपी पुलिस लाइन में अधिकारियों को क्राइम कम करने का पाठ पढ़ा रहे थे वहीं, दूसरी तरफ मवाना में बदमाशों ने डीजीपी का स्वागत उसी समय लूट की घटना को आज़म देकर किया। बदमाशों ने लूट की वारदात के बाद भागने में भी कामयाबी हासिल कर ली। घटना की जानकारी मिलते ही पुलिस महकमें में हड़कंप मच गया। आनन-फानन में मौके पर पहुंची स्थानीय पुलिस अब बदमाशों को जल्द पकड़ने का दावा कर रही है।
आपको बता दें कि मेरठ के थाना मवाना क्षेत्र के रामबाग कालोनी में सुनील नाम के होटल व्यापरी अपने परिवार के साथ रहते हैं। रोज की तरह आज भी होटल कारोबारी अपने होटल पर गए हुए थे। इसी दौरान उनके घर में दो हेलमेट पहने हुए हथियार बंद बदमाश जबरन घर में घुसे और परिवार को गनपॉइंट पर लेकर जमकर लूट की घटना को अंजाम दिया। इस घर में घंटो बदमाशों ने जमकर लूट की, जिसमे 30 हजार की नगदी सहित बदमाश 10 तोला सोना लेकर फरार हो गए।सूचना पर मौके पर पहुंची पुलिस ने अपनी जाँच शुरू कर दी है।
लेकिन सवाल यही उठ रहा है, जब एक तरफ पुलिस लाइन में बैठकर डीजीपी मेरठ जोन के अधिकारियों की तारीफ के पुल बांध रहे थे और दूसरी तरह कैसे बदमाश इस तरह की लूट की घटना को अंजाम दे रहे थे। पुलिस इस घटना को चुनौती जरूर मान कर चल रही है। लेकिन डीजीपी के मेरठ में होने के बाद भी मीडिया को इस खबर पर बयान न देकर अपनी नाकामी भी छुपा रही है। सवाल यही है कि मेरठ व आसपास इतने एनकाउंटर होने के बाद भी अपराधियों के दिलो में पुलिस का खौफ क्यों नहीं है? जबकि डीजीपी तारीफों में बोल रहे हैं, कि अब पुलिस के खौफ के चलते बदमाश डर रहे हैं। लेकिन ये कैसा डर है ये आप इस घटना से लगा सकते हैं, जिसमें बदमशों ने डीजीपी को लूट से सलामी दी है।

Share it
Top