नव-नियुक्त सहायक अभियन्ता की ऑन जॉब ट्रेनिंग कार्यक्रम का शुभारम्भ किया...प्रबन्ध निदेशक ने नवनियुक्त सहायक अभियन्ताओं को विभिन्न 5 सूत्रों को अमल में लाने पर बल दिया

मेरठ। नव-नियुक्त सहायक अभियन्ता (प्रशिक्षु) की कार्यकुशलता एवं दक्षता को बढ़ाने हेतु ऑन जॉब ट्रेनिग कार्यक्रम का शुभारम्भ आज आशुतोष निरंजन (आईएएस) प्रबन्ध निदेशक के कर-कमलो द्वारा दीप प्रज्जवलित कर किया गया।

ऑन जॉब ट्रेनिग कार्यक्रम के शुभारम्भ के अवसर पर प्रबन्ध निदेशक द्वारा नवनियुक्त सहायक अभियन्ताओं (प्रशिक्षु) को पश्चिमांचल में तैनात किये जाने पर स्वागत किया एवं उनके उज्जवल भविष्य की कामना की। उन्होंने नवनियुक्त अभियन्ताओं को अल्प समय मे सुनियोजित प्रशिक्षण कार्यक्रम बनाये जाने पर एच०आर०डी० सेल को बधाई भी दी।

प्रबन्ध निदेशक ने कहा कि हमें गौरान्वित होना चाहिए कि हमे सीधे पब्लिक मे रहकर कार्य करने का अवसर प्राप्त हुआ है। उन्होंने वितरण, परीक्षण, लेखा, भण्डार आदि स्कन्धो मे आन्तरिंक संवाद बनाये जाने पर बल दिया जिससे कार्य को सुगमता से किया जा सके। उन्होंने सुझाव दिया कि जन-प्रतिनिधियों एवं उपभोक्ताओं की समस्याओं को धैर्य के साथ सुनकर सूझ-बूझ के साथ तत्परता से निस्तारण सुनिश्चित किया जाए। उन्होंनेे नव-नियुक्त अभियन्ताओं को टाइम मैनेजमेन्ट को अपनाने पर बल दिया। जिससे की कार्यो को निश्चित समय सीमा मे पूरा किया जा सके। उन्होंनेे नव-नियुक्त अभियन्ताओं को सुझाव दिया कि विभागीय पत्र एवं पत्रावलियों को पढने की आदत बनाए जिससे पत्रावलियो का निस्तारण ससमय उचित प्रकार से किया जा सके।

ऑन जॉब प्रशिक्षण कार्यक्रम की समय सारणी में भण्डार स्कन्थ, मेरठ का दौरा, 220 के०वी०, मोदीपुरम विद्युत उपकेन्द्र तथा एरिया लोड डिस्पैच स्टेशन का दौरा, कार्यशाला पर प्रेजेन्टेशन एवं मुरादनगर कार्यशाला का दौरा, ईरडा टैस्ट लैब, मुरादनगर का दौरा, 1912 (हेल्प लाईन) का दौरा, लेखा स्कन्थ (कम्पनी लॉ/जीएसटी/बेसिक एकाउन्टींग) से सम्बन्धित समस्त जानकारी, नोयडा डी०आर० सेन्टर में कार्यशाला (हार्डवेयर/सिस्टम/सॉफ्टवेयर इत्यादि पर) प्रवर्तन दल के साथ किसी एक अपेक्षाकृत बड़ें और संदिग्ध एचवी उपभोक्ता (सीजनल) परिसर की चैकिंग (मेरठ/मुजफ्फरनगर/हापुड़/मोदीनगर क्षेत्र) में मीटर टैस्टिंग पर डेमोन्सट्रेशन एवं मीटरिंग से सम्बन्धित समस्त जानकारी, एम०आर०आई० स्मार्ट मीटरिंग पर प्रजेन्टेंशन आदि विषय सम्मिलित किये गये हैं, जिससे प्रशिक्षु अभियन्ताओं को प्रैक्टिकल ज्ञान भी प्राप्त हो सके।

नव-नियुक्त अभियन्ताओं को सम्बोधित करते हुए एन०के० अरोड़ा, मुख्य अभियन्ता (मा०सं०एवं०प्रशा०) द्वारा अवगत कराया गया कि इस प्रकार का प्रशिक्षण डिस्काम स्तर पर प्रथम बार आयोजित किया जा रहा है। यह प्रशिक्षण अपने आप में एक ज्ञानवर्धक प्रशिक्षण साबित होगा। उन्होंने बताया कि सभी 34 नवनियुक्त सहायक अभियन्ताओं को प्रशिक्षण के दौरान मीटर की जानकारी, ट्रान्सफार्मर की जानकारी, एनर्जी एकाउन्ट की जानकारी, उपभोक्ताओं द्वारा होने वाली शिकायत एवं उसके निस्तारण के बारे मे भी जानकरी दी जाएगी। इस अवसर पर राजकुमार अग्रवाल, निदेशक (तकनीकी), एन०के० अरोड़ा, मुख्य अभियन्ता (मा०स०एवंप्रशा०), विराग बन्सल, मुख्य अभियन्ता (सौभाग्य), शुभेन्दु प्रताप सिंह, अधीक्षण अभियन्ता (मुख्यालय), आई०पी० सिंह, अधीक्षण अभियन्ता (सौभाग्य) आदि अधिकारीगण उपस्थित रहे। 34 नव-नियुक्त सहायक अभियन्ताओं में कु० अवनी गोयल विद्या कालिज ऑफ इन्जीनियरिंग मेरठ, कु० शैली वत्स, कु० प्रगति राजपूत, कु० अन्शु सोनकर, अविनाश कुमार चौधरी, ओंनकार शर्मा, अभिषेक वर्मा, शशांक सुमन, शुभम गुप्ता, रोहित कुमार, रचित कुमार, रोबिन शर्मा, पंकज अग्रवाल, चिराग सरोहा, मयंक तेवतिया, देंववृत्त, उद्देश्य कुमार, हर्षित, जौनित कुमार, सचिन रस्तौगी, अमित पाण्डेय आदि प्रशिक्षण कार्यक्रम मे उपस्थित रहे।

Share it
Top