मेरठ: नवरात्रों में 24 घंटे विद्युत आपूर्ति सुनिश्चित की जायें: आयुक्त

मेरठ: नवरात्रों में 24 घंटे विद्युत आपूर्ति सुनिश्चित की जायें: आयुक्त

मेरठ। आयुक्त सभागार में मण्डलीय विकास कार्यों की समीक्षा बैठक की अध्यक्षता करते हुए आयुक्त डा. प्रभात कुमार ने अधिकारियों को निर्देशित किया कि सरकारी योजनाओं का लाभ पात्रों को ही मिलें यह सुनिशिचत करें। उन्होंने विकास कार्यों में तेजी लाने, नवरात्रों में 24 घंटे विद्युत आपूति व पानी की उपलब्धता सुनिशिचत करने, परिषदीय विद्यालय के बच्चों को जूते, ड्रेस व पाठ्य पुस्तकें उपलब्ध कराने, किसानों के मृदा स्वास्थ्य कार्ड बनवाने तथा मुख्यमंत्री किसान एवं सर्वहित बीमा योजना से लोगों का आच्छादित कराने के भी निर्देश दिये।
आयुक्त डा. प्रभात कुमार ने कहा कि पेयजल मिशन योजना के अंतर्गत पाईप पेयजल योजना के सुचारू संचालन की व्यवस्था सुनिशिचत करें। छात्रवृति योजनाओं में समय से पंजीकरण कराने, किसानों को गन्ना भुगतन समय से कराने, नहरों में टेल तक पानी पहुंच यह सुनिशिचत करने तथा टेल के किसानों के मोबाईल नम्बर पर सम्पर्क कर यह सुनिशिचत करने कि टेल तक पानी पहुंच गया है। उन्होंने संयुक्त निदेशक खाद्य को निर्देशित किया कि राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा अधिनियम के अंतर्गत बनाये गये राशनों कार्डों की सूचना, अपात्रों की सूचना, कितने कार्डों का अभी तक डिजीटाइजेशन किया जा चुका है। इसकी आख्या दें। आयुक्त ने संयुक्त निदेशक कृषि को निर्देशित किया कि सरकार की योजनाओं से किसानों को आच्छादित करें तथा सभी कृषकों के मृदा स्वास्थ्य कार्ड बनवाये। उन्होंने कुपोषण निवारण के सम्बन्ध में अधिकारियों को आवंटित ग्रामों का नियमित भ्रमण करने के लिए भी निर्देशित किया तथा स्वच्छ भारत मिशन ग्रामीण के अंतर्गत मार्च 2018 तक मण्डल को ओडीएफ घोषित कराने के भी निर्देश दिये।
डा. प्रभात कुमार ने मुख्यमंत्री किसान एवं सर्वहित बीमा योजना से अधिक से अधिक लोगों को लाभान्वित करने व लम्बित व निरस्त प्रकरणों की सूची उपलब्ध कराने तथा घटना के घटित हो जाने पर 15 दिनों के भीतर बीमित राशि दिलवाने के निर्देश दिये। उन्होंने बीमा कंपनियों के प्रतिनिधियों से कहा कि वह कृषकों के लिए उदार बने तथा उनकों ज्यादा से ज्यादा लाभयोजनाओं के अंतर्गत दें। उन्होने कहा कि पात्रों को लाभ देने में बीमा कंपनी ने कितना समय लिया तथा जिन प्रकरणों को उनके द्वारा निरस्त किया गया है उसके कारण सहित इसकी आख्या उपलब्ध करायें। संयुक्त विकास आयुक्त एबी मिश्र ने बताया कि लोक निर्माण विभाग द्वारा मण्डल में 56.78 किमी. लम्बाई की 33 नई सड़कें बनाये जाने का लक्ष्य था, जिसके सापेक्ष 7 सड़कें पूरी कर ली गयी है तथा 8 सेतु निर्माण का लक्ष्य के सापेक्ष हस्तिनापुर में चेतावाला घाट पर वन विभाग की एनओसी ना मिलने से निर्माण कार्य पूरा नही हो पाया है। उन्होंने बताया कि 31 अगस्त 2017 तक परिषदीय विद्यालय में 21 हजार छात्र/छात्राओं की संख्या में वृद्धि हुई है। उन्होंने बताया कि मण्डल में 9.31 लाख किसान है,जिसमें से 60 प्रतिशत का मृदा स्वास्थ्य कार्ड बनाया जा चुका है। उन्होंने बताया कि मण्डल में 1558 ग्रामों में से 968 ग्राम ओडीएम घोषित हो गये है।
इस अवसर पर विभिन्न पेंशन योजनाओं, प्रधानमंत्री ग्रामीण सड़क योजना, पारदर्शी किसान योजना, आंगनबाड़ी केन्द्रों का निर्माण आदि विषयों पर विस्तार से चर्चा हुई तथा आवश्यक दिशा निर्देश दिये गये। इस अवसर जिलाधिकारी मेरठ समीर वर्मा, गाजियाबाद ऋतु माहेश्वरी, बागपत के भवानी सिंह, बुलन्दशहर की रोशन जैकेब, हापुड़ के कृष्ण करूणेश, मुख्य विकास अधिकारी मेरठ आर्यका अखौरी, गाजियाबाद रमेश रंजन, बागपत चांदनी सिंह, बुलन्दशहर जसजीत कौर, हापुड़ दीपा रंजन, मण्डल के सभी जनपदों के अपर जिलाधिकारी, सहित अन्य वरिष्ठ प्रशासनिक अधिकारीगण उपस्थित रहें।

Share it
Top