मेरठ: दुकानों को लेकर दो पक्ष भिड़े, सूचना पर दौड़ी पुलिस, 14 महिलाओं सहित 34 का शांति भंग में किया चालान

मेरठ: दुकानों को लेकर दो पक्ष भिड़े, सूचना पर दौड़ी पुलिस, 14 महिलाओं सहित 34 का शांति भंग में किया चालान

मेरठ। अम्बेडकर धर्मशाला की दुकानों पर अवैध कब्जे को लेकर दो पक्ष भिड़ गए धर्मशाला कमेटी से जुड़े लोगों दुकानों में तोड़ फोड़ विवाद की सूचना पर पहुंची पुलिस ने बल प्रयोग कर भीड़ को भगाया। इस दौरान पुलिस ने महिलाओं सहित कई दर्जन लोगों को पकड़कर थाने भेज दिया। तनाव को देखते हुए इलाके में फ़ोर्स को तैना किया गया। किरायेदार की तहरीर पर पुलिस ने महिलाओं सहित दस के खिलाफ लूट का मामला दर्ज करने के अलावा 14 महिलाओं सहित 34 का शांति भंग में चालान कर दिया है। एक तरफ़ा हुई कार्यवाई को लेकर मोहल्ले के लोगों में पुलिस के प्रति भारी आक्रोष फैला हुआ है। सरधना नगर के मोहल्ला बूढ़ा बाबू के लोगों ने बताया की मोहल्ले में स्थित अम्बेडकर धर्मशाला में धर्मशाला की आमदनी के लिए कुछ दुकाने बनाकर किराए पर दी गई थी। मोहल्ले की आबादी बढ़ जाने के कारण किसी भी प्रोग्राम के लिए धर्मशाला अब छोटी पडऩे लगी है। जिसके चलते अब धर्मशाला कमेटी मोहल्ला वासियों की मांग पर अम्बेड़कर धर्मशाला की दुकाने तोड़कर उसका विस्तार करना चाहती है। धर्मशाला की तीन दुकाने कुछ माह पूर्व गोविन्द पुत्र रामफल, ललित पुत्र जगदीश तथा सुन्दर पुत्र जयचंद को किराए पर दी गई थी। अब उनसे दुकानें खाली करने को कहा गया तो वह फसाद पर अमादा थे। उक्त दबंगों ने गाली-गलोंच करने के साथ अपनी महिलाओं से फर्जी मुक़दमे कराये जाने की भी धमकी दी थी। जिसके चलते मोहल्ले के लोगों ने उपजिलाधिकारी ज्ञान प्रकाश यादव व सीओ भीम कुमार गौतम व एसओ धर्मेन्द्र सिंह राठोर को प्रार्थना पत्र देकर उक्त दबंगो के खिलाफ कार्यवाई के साथ दुकानें खाली कराये जाने की मांग की गई थी। अभी अधिकारीयों की और से इस मामले में कोई कदम नहीं उठाया गया था। सुबह किरायेदार व कमेटी से जुड़े लोग आमने-सामने आ गए। दोनों और से जमकर मारपीट हुए विवाद और पथराव की सूचना पर पहुंची पुलिस ने भीड़ को बल प्रयोग कर दौड़ाया। इसी के साथ पुलिस ने कई दर्जन महिलाओं व पुरुषों को हिरासत में लिया और थाने ले आई। किरायेदार ललित पुत्र जगदीश की तहरीर पर पुलिस ने पांच महिलाओं व पांच पुरुषो के खिलाफ मारपीट, तोडफ़ोड़ व लूटपाट करने की धाराओं में मुकदमा कायम करने के साथ 14 महिलाओं सहित 34 लोगों का शांति भंग करने को लेकर चालान कर दिया है। कार्यवाई के चलते अम्बेडकर धर्मशाला कमेटी से जुड़े लोगों में पुलिस के प्रति भारी रोष व्याप्त है। कमेटी से जुड़े लोगों का कहना है की इस संबंध में अधिकारीयों को पहले ही अवगत कराया गया था और किरायेदारों के खिलाफ कार्यवाई की मांग की जा चुकी थी। लेकिन पुलिस ने उनकी तहरीर पर कोई कदम नहीं उठाया और एक किरायेदार की तहरीर पर इतनी बड़ी कार्यवाई कर डाली। कमेटी के लोगों ने पुलिस पर कई गंभीर आरोप भी लगाए है। कमेटी के लोगों का आरोप है की इस दौरान पुलिस ने महिलाओं के साथ बच्चों को भी थाने में बैठाए रखा।

Share it
Top