मेरठ: हड़ताल पर रहे मेरठ के 1300 डाॅक्टर

मेरठ: हड़ताल पर रहे मेरठ के 1300 डाॅक्टर

मेरठ। पश्चिम बंगाल में डॉक्टरों पर हुए जानलेवा हमले के विरोध में आईएमए के आह्वान पर सोमवार को जिले के प्राइवेट डॉक्टर हड़ताल पर रहे। इसके चलते स्वास्थ्य सेवाएं चरमरा गईं और मरीज दिन भर हलकान रहे। हड़ताल के चलते पूरे जनपद के 1300 डाॅक्टर सवास्थ्य सेवाओं से विरत रहे।

सोमवार को जिले भर के प्राइवेट डॉक्टरों ने कार्य का बहिष्कार करते हुए आईएमए हाॅल में सभा की। इस दौरान डॉक्टरों ने न्याय ना मिलने तक आंदोलन जारी रखने की बात कही। इसी के साथ केंद्र सरकार से चिकित्सकों व अस्पतालों ने हिंसा के मामलों में सख्त कानून बनाए जाने और हिंसा करने वालों की तत्काल गिरफ्तारी की मांग उठाई। पश्चिम बंगाल के दोषी व्यक्तियों पर त्वरित कार्यवाही की मांग की, जिससे वहां शांति व्यवस्था बहाल हो सके।

उधर इस मामले में जिला अस्पताल के प्रमुख अधीक्षक पीके बंसल ने बताया कि प्राइवेट डॉक्टरों की हड़ताल से पहले सभी सरकारी डॉक्टरों को उनके विभागों में मुस्तैद कर दिया गया है। उन्होंने दावा किया कि जिले में स्वास्थ्य सेवाओं को प्रभावित नहीं होने दिया जाएगा।

बताते चलें कि पश्चिम बंगाल की घटना के विरोध में आईएमए के आह्वान पर जिले के सभी प्राइवेट डॉक्टर 17 जून की सुबह 6 बजे से लेकर 18 जून की सुबह 6 बजे तक हड़ताल पर रहेंगे। इस दौरान इमरजेंसी सेवा को छोड़कर अन्य चिकित्सा सेवाएं पूर्णतया बंद रहेंगी।


Share it
Top