मॉर्निंग रेड से मचा हडकम्प, पकड़ी 109 प्रकरणों में सीधे विद्युत चोरी

मेरठ। डिस्काम के अन्तर्गत औचक मॉर्निंग रेड से विद्युत चोरो की नींद हराम एवं विद्युत चोरो में हडकम्प मचा हैं। मॉर्निंग रेड के अन्र्तगत 109 सीधे विद्युत चोरी के प्रकरणों में विभाग द्वारा एफ०आई०आर० दर्ज करायी गयी इसके अतिरिक्त मॉस रेड अभियान में 144 उपभोक्ताओं के डिस्कनेक्शन किये गये। मेरठ क्षेत्र के अन्र्तगत विद्युत वितरण खण्ड-चतुर्थ, मेरठ में मॉर्निंग रेड डाली गयी। ग्रांम अलमपुर में विद्युत चोरी के उद्देश्य से ए०बी० केबिल को क्षतिग्रस्त किया गया जिनके विरूद्ध एफ०आई०आर० दर्ज करायी गयी। इसके अतिरिक्त विद्युत नगरीय वितरण खण्ड-प्रथम मेरठ के अन्र्तगत डिस्कनेक्शन अभियान में 99 उपभोक्ताओं के संयोजन विच्छेदित किये गये जिसके सापेक्ष रू० 16.03 लाख की वसूली की गयी। विद्युत नगरीय वितरण खण्ड-पंचम के अन्र्तगत 45 बकायेदारों के संयोजन विच्छेदित किये जिसके सापेक्ष 4.68 लाख की वसूली की गयी।

मुरादाबाद क्षेत्र के अन्तर्गत विद्युत नगरीय वितरण खण्ड-द्वितीय, मुरादाबाद में उपखण्ड अधिकारी के नेतृत्व में मॉर्निंग रेड अभियान चलाया गया। अभियान में 15 विद्युत चोरी के प्रकरण पाये गये जिनके विरूद्ध एफ०आई०आर० दर्ज करायी गयी। इसके अतिरिक्त विद्युत नगरीय वितरण खण्ड-3, मु०बाद के अन्तर्गत मॉर्निंग रेड के दौरान 29 उपभोक्ता विद्युत चोरी करते पाये गये, जिनके विरूद्ध एफ०आई०आर० दर्ज करायी गयी। बुलन्दशहर क्षेत्र के अन्र्तगत अभियान में विद्युत नगरीय वितरण खण्ड-बुलन्दशहर के अन्तर्गत नंदग्राम उपकेन्द्र पर मॉर्निंग रेड डाली गयी, जिसमें 6 उपभोक्ता सीधे विद्युत चोरी करते पाये गये जिनके विरूद्ध एफ०आई०आर० दर्ज करायी गयी। औचक रेड के दौरान विद्युत वितरण खण्ड-हापुड़ में 10 उपभोक्ता विद्युत चोरी करते पाये गये जिनके विरूद्ध एफ०आई०आर० दर्ज करायी गयी।

गाजियाबाद क्षेत्र के अन्र्तगत मॉर्निंग रेड के दौरान 6 उपभोक्ता विद्युत चोरी करते पाये गये जिनके विरूद्ध एफ०आई०आर० दर्ज करायी गयी। सहारनपुर क्षेत्र के विद्युत नगरीय वितरण मण्डल-प्रथम एवं द्वितीय के अन्र्तगत रेड के दौरान 29 उपभोक्ता विद्युत चोरी करते पाये गये जिनके विरूद्ध धारा 135 में एफ०आई०आर० दर्ज करायी गयी अभियान में चेकिंग के दौरान नोएड़ा क्षेत्र के अन्र्तगत सेक्टर-51 में ओयो होटल में दो मीटरों में शंट पाया गया। होटल परिसर में 9-9 किलोवाट के दो संयोजन चलते पाये गये। 18 किलोवाट के सापेक्ष 6० किलोवाट भार संयोजित पाया गया। उपभोक्ता के विरूद्ध एफ०आई०आर० दर्ज करायी गयी एवं रू० 32 लाख का निर्धारण भी किया गया। इसके अतिरिक्त विद्युत नगरीय वितरण खण्ड-नोएड़ा के अन्र्तगत 13 पी०टी०डब्ल्यू० संयोजन विद्युत चोरी से चलते पाये गये, जिनके विरूद्ध प्राथमिकी दर्ज करायी गयी। इस सम्बन्ध में श्री आशुतोष निरंजन, (आईएएस) प्रबन्ध निदेशक पश्चिमांचल विद्युत वितरण निगम लि०, द्वारा अधिकारियों को निर्देशित किया गया कि विद्युत चोरी में पकड़े गये संयोजनों की कड़ी निगरानी की जाये। ऐसे संयोजनों पर शीघ्र से शीघ्र राजस्व निर्धारण कर वसूली की कार्यवाही सुनिश्चित की जाये।

Share it
Top