मेरठ: 10 वर्ष से पुराने डीजल व 15 वर्ष से पुराने पेट्रोल वाहनों पर लगाये प्रतिबंध: आयुक्त

मेरठ: 10 वर्ष से पुराने डीजल व 15 वर्ष से पुराने पेट्रोल वाहनों पर लगाये प्रतिबंध: आयुक्त

मेरठ। मंडल में बढ़ते प्रदूषण व उसके प्रभाव को रोकने के सम्बंध में आयुक्त डा. प्रभात कुमार ने मंडल के सभी जिलाधिकारियों व प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड के अधिकारियों के साथ आयुक्त कार्यालय में आहुत बैठक की अध्यक्षता करते हुए 7 बिन्दुओं पर कार्य करने, एनजीटी के आदेशों के अनुक्रम में 10 वर्ष से पुराने डीजल व 15 वर्ष से पुराने पेट्रोल वाहनों पर प्रतिबंध लगाने, मिट्टी के खनन को रोकने, अपंजीकृत व बिना पीयूसी व बिना परमिट के वाहनों को न चलने देने व ईंट भट्टों को जिग-जेक टेक्टनोलॉजी व प्रदूषण विभाग की एनओसी के साथ संचालित कराने के लिए निर्देशित किया। उन्होंने मण्डल में पटाखों पर 31 जनवरी 2018 तक प्रतिबंध लगाने के लिए निर्देशित किया। आयुक्त डा. प्रभात कुमार ने प्रदूषण नियंत्रण के सम्बंध में आहुत बैठक की अध्यक्षता करते हुए आमजन को बढ़ते प्रदूषण व उसके प्रभाव के सम्बंध में जागरूक करने तथा बढ़ते प्रदूषण के दौरान ली जाने वाली सावधानियों के सम्बंध में एडवाइजरी को समाचार पत्रों एवं अन्य माध्यमों के द्वारा जारी कर आमजन को जागरूक करें। उन्होंने प्रदूषण को जानने के लिए पीएम 10 के साथ-साथ पीएम 2.5 का स्तर भी जानने के लिए कहा तथा इस सम्बंध में प्रदूषण की जांच के लिए उपकरण खरीदने के लिए धनराशि निर्गत करने के सम्बध में सेन्ट्रल प्रदूषण कन्ट्रोल बोर्ड को उनकी ओर से पत्र प्रेषित करने के लिए निर्देशित किया। आयुक्त डा. प्रभात कुमार ने बढ़ते प्रदूषण को रोकने के लिए 7 बिन्दुओं जिसमें वाहन व उसकी पार्किंग, प्रदूषण की जांच के लिए उपकरण, निर्माण कार्यो के द्वारा हुए प्रदूषण को रोकने, कृषि व नगरीय अपशिष्ठ को न जलाया जाए। इस सम्बंध में, ईंट-भट्टों को एनजीटी के आदेशों के अनुक्रम में चलाने, हॉट मिक्स प्लांट व मिट्टी के खनन को रोकने के सम्बंध में विस्तार से चर्चा करते हुए अपंजीकृत व बिना प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड के प्रमाण पत्र के वाहनों को तथा बिना परमिट के वाहनो को न चलने देने के लिए निर्देशित किया। आयुक्त डा. प्रभात कुमार ने एनजीटी द्वारा 7 अप्रैल 2015 को जारी आदेश जिसके अन्तर्गत एनसीआर में 10 वर्ष से पुराने डीजल व 15 वर्ष से पुराने पेट्रोल वाहनों को सड़क पर न चलने देने तथा नॉन डैजिकनेटिड ऐरिया में पार्किग नहीं करने के आदेशों को कड़ाई से पालन सुनिश्चित करने के लिए निर्देशित किया। उन्होंने शीत ऋतु में प्राईमरी स्कूलों के समय में परिवर्तन करने, कार पुलिंग को प्रोत्साहित करने के लिए निर्देशित किया। आयुक्त ने बताया कि निर्माण की जा रही, जगह पर खुले में बिना ढ़के निर्माण सामग्री रखने पर पैनेल्टी का प्रावधान है जिसको प्रभावी ढंग से लागू किया जाए। ईंट भटटों को जिग-जेक टेक्नालॉजी व प्रदूषण नियंत्रण विभाग की एनओसी के साथ चलवाने व मिटटी का खनन रोकने के लिए निर्देशित किया तथा मण्डल में पटाखों पर 31 जनवरी 2018 तक प्रतिबंध लगाने के लिए निर्देशित किया। मंडल के सभी डीएम व सम्बंधित अधिकारी उपस्थित रहे।

Share it
Top