तूफान ने मेरठ में उखाडे़ पेड़ और होर्डिंग्स

तूफान ने मेरठ में उखाडे़ पेड़ और होर्डिंग्स



मेरठ । पहाड़ों पर पश्चिमी विक्षोभ और हरियाणा व राजस्थान के ऊपर बने चक्रवाती हवाओं के क्षेत्र के मिलने से तूफान पश्चिमी उत्तर प्रदेश पहुंच गया। सोमवार की देर रात धूल के गुबार के साथ चली तेज हवाओं ने कई पेड़ और होर्डिंग्स उखाड़ फेंके। इस दौरान हल्की बारिश भी पड़ी। प्रशासन ने आठ मई को सभी शिक्षण संस्थाओं को बंद कर दिया।
मौसम विभाग ने 48 घंटे तक लोगों को सतर्क रहने की हिदायत दी है।कई दिनों से तेज तूफान आने की अफवाह चल रही थी। मौसम विभाग ने भी तूफान और बारिश से लोगों को अलर्ट किया हुआ था। सोमवार की देर रात अचानक मेरठ में भी मौसम का मिजाज बदल गया। मेरठ, बागपत, बुलंदशहर, गाजियाबाद, शामली, मुजफ्फरनगर, सहारनपुर, बिजनौर, हापुड़, अमरोहा आदि जनपदों में भी धूलभरी तेज हवाओं के जनजीवन अस्तव्यस्त हो गया। पहले से तूफान को लेकर तमाम आशंकाओं से सहमे लोग रात को तेज तूफान की आहट से भयभीत हो गए। 60 किमी प्रतिघंटे की रफ्तार से चली हवाओं के बीच बिजली कड़कने, पेड़ और टीनशैड उखडने के शोर से लोग सहमे रहे। तूफान से शहर में अनेक पेड़ और खंभे भी उखड़ गए। तूफान शुरू होते ही बिजली गुल हो गई।
बारिश और ओलावृष्टि का खतरा बरकरार
मौसम विभाग के अनुसार अगले 48 घंटे तक तूफान के साथ-साथ बारिश और ओलावृष्टि का खतरा बरकरार है। मेरठ सहित आसपास के क्षेत्रों में मौसम इसी तरह से बने रहने के आसार हैं। कुछ स्थानों पर 80 से सौ किमी प्रतिघंटे की रफ्तार से हवा चलने के आसार हैं। इस दौरान ओलावृष्टि और बारिश भी हो सकती है। इन 48 घंटों में वेस्ट यूपी में तूफान का खतरा बना हुआ है। मेरठ सहित आसपास के क्षेत्रों में 60 किमी प्रतिघंटे की रफ्तार से हवा चलने के आसार हैं। बारिश और ओलावृष्टि से दिन-रात के तापमान में व्यापक गिरावट आने के आसार हैं।किसानों का भूसा उड़ाअब गेहूं की अधिकांश फसल खेतों से कट चुकी है, लेकिन भूसा अभी भी खेतों में पड़ा हुआ है।
सोमवार की रात को आए तूफान के कारण किसानों का काफी भूसा उड़ गया, इससे किसान बुरी तरह से चिंतित है। भूसा उडने से उनके पशुओं को चारे के संकट का सामना करना पड़ेगा। मंगलवार सुबह धूप निकलने से हालांकि लोगों ने राहत की सांस ली, लेकिन तूफान का खतरा बरकरार रहने से लोग चिंतित नजर आए। उधर प्रशासन ने मंगलवार आठ मई को सभी शिक्षण संस्थानों को बंद करने का आदेश दिया। इस कारण मंगलवार को सभी स्कूल-काॅलेज बंद रहे।

Share it
Top