मेरठ: गैंगरेप के बाद छह साल की बच्ची को मार डाला...उर्स मेले में झूला लगाने आए मजदूर निकले आरोपी

मेरठ। फलावदा कस्बे में छह साल की मासूम बच्ची की गैंगरेप के बाद हत्या कर दी गई। यहां लगे मेले में झूला लगाने आए दो मजदूरों ने शराब के नशे में वारदात को अंजाम दिया। घटना के विरोध में सैकड़ों लोगों ने कई घंटे तक जमकर हंगामा किया। लोग पुलिस की गाड़ी के आगे लेट गए। पुलिस ने दोनों अभियुक्तों को गिरफ्तार कर लिया है।
कस्बा फलावदा निवासी ओमप्रकाश सैनी की छह साल की पुत्री सोनिया उर्फ सोनी गुरुवार शाम करीब पांच बजे संदिग्ध हालात में लापता हो गई थी। परिजनों ने थाने में उसकी गुमशुदगी दर्ज कराई थी। शनिवार सुबह नगर पंचायत के पूर्व चेयरमैन नैय्यर आलम के गांव गड़ीना रोड स्थित गन्ने के खेत में बच्ची का शव मिला। उसके कपड़े भी अस्त-व्यस्त थे। दुराचार की आशंका जताई गई। शव मिलने की सूचना मिलते ही कस्बे के सैकड़ों लोग मौके पर पहुंच गए। शव रखकर गड़ीना रोड को जाम कर दिया। पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए भेजने का प्रयास किया तो लोग पुलिस जीप के आगे लेट गए। लोगों ने मवाना-फलावदा रोड भी जाम कर दिया। तनाव के मद्देनजर एसपी देहात राजेश कुमार कई थानों की पुलिस के साथ मौके पर पहुंचे। परिजनों ने उर्स मेले में झूला लगाने आए मजदूरों पर शक जताया। फिर पुलिस ने कई मजदूरों को हिरासत में लेकर सख्ती से पूछताछ की तो उनमें से दो ने सारा घटनाक्रम कुबूल कर लिया। दोनों अभियुक्तों के मुताबिक, गुरुवार देर शाम वह नशे में थे। इस दौरान बच्ची को उठाकर गन्ने के खेत में ले गए। वहां रेप के बाद गला दबाकर उसकी हत्या कर दी। पुलिस ने दोनों को गिरफ्तार कर शव को पोस्टमार्टम के लिए भिजवाया। करीब चार घंटे बाद हंगामा शांत हो सका।

Share it
Top