मेरठ: अगले दिन फिर जिले में गौकशी की दो घटनाएं, जाम लगाकर हंगामा

मेरठ: अगले दिन फिर जिले में गौकशी की दो घटनाएं, जाम लगाकर हंगामा

मेरठ। जिले में गौकशी की घटनाऐं रूकने का नाम नहीं ले रही हैं। शुक्रवार सुबह जिले में फिर गौकशी की दो घटनाएं सामने आई हैं। एक मुंडाली थाना क्षेत्र की घटना है तो दूसरी सरधना के सलावा गांव की। दोनों ही स्थानों पर गाय काटने के औजार और अवशेष मिले हैं, लेकिन इन दोनों मामलों में आरोपितों की कोई पहचान नहीं हो सकी है। बजरंग दल कार्यकर्ताओं ने कांवड़ मार्ग पर जाम लगाकर हंगामा किया। इससे एक दिन पहले ही मेरठ शहर के लिसाड़ीगेट थानाक्षेत्र में पशुओं की चर्बी पिघलाते छह लोग पकड़े गए थे।
मुंडाली थानाक्षेत्र के गांव अजराड़ा में आधा दर्जन गौ-तस्कर दो गाय काट रहे थे, तभी वहां पहुंचे एक किसान की नजर उन पर पड़ गई। गौकशों को देखकर अजराड़ा के दलित युवक बिजेंद्र ने इसका विरोध किया और हल्ला मचाने लगा। इस पर गौकश उस पर टूट पड़े और उसकी पिटाई कर फरार हो गए। इसकी सूचना पर पुलिस मौके पर पहुंची और वहां से खाल, औजार आदि कब्जे में लिए। इस मामले में अभी तक आरोपियों की पहचान नहीं हो सकी है।
वहीं दूसरी घटना सरधना थाना क्षेत्र की है। सुबह-सवेरे जब किसान अपने खेत की ओर पहुंचे तो सलावा गांव के जंगल में गाय के अवशेष देखकर सन्न रह गए। खून से लथपथ गायों के अवशेष देख उनका गुस्सा फूट पड़ा और किसान स्वयं ही अवशेष लेकर थाने पहुंच गए। वहां उन्होंने जमकर हंगामा किया और जल्द से जल्द आरोपितों को गिरफ्तार करने की मांग की। पुलिस काफी देर तक उन्हें समझाने का प्रयास करती रही, लेकिन वे कार्रवाई की मांग पर अडिग रहे। इसके बाद पुलिस ने भरोसा दिलाया कि एक विशेष टीम बनाकर जल्द ही इलाके की पेट्रोलिंग रात में भी कराई जाएगी, ताकि ऐसे तत्वों पर पूरी तरह से नकेल कसी जा सके। उधर, बजरंग दल के जिला विभाग संयोजक मिलन सोम भी कार्यकर्ताओं को साथ मौके पर पहुंचे और आरोपितों की गिरफ्तारी की मांग लेकर चौधरी चरण सिंह कावड़ मार्ग जाम कर दिया। हंगामे की सूचना पर एसओ धर्मेंद्र सिंह राठौर फोर्स के साथ मौके पर पहुंचे और जाम खुलवाने के प्रयास किए, मगर ग्रामीण और बजरंग दल कार्यकर्ता आरोपितों की तत्काल गिरफ्तारी की मांग पर अड़ गए। बाद में थाना एसओ ने आरोपितों की शाम तक गिरफ्तारी का आश्वासन देकर जाम खुलवाया।

Share it
Top