मेरठ: पास करने को कॉपियों में मिल रही चिट्ठियां, कोई बता रहा गरीब, किसी की कॉपी से निकल रहे नोट

मेरठ: पास करने को कॉपियों में मिल रही चिट्ठियां, कोई बता रहा गरीब, किसी की कॉपी से निकल रहे नोट

मेरठ। यूपी बोर्ड की कॉपियों के मूल्यांकन के दौरान कॉपियों में से लगभग रोजाना ही कुछ न कुछ अजीब बातें सामने आ रही हैं। पास करने के लिए कोई छात्र अपनी गरीबी का हवाला दे रहा जबकि किसी की कॉपी से 50 व सौ-सौ के नोट निकल रहे हैं।
कुछ ऐसी ही बातें शुक्रवार को यूपी बोर्ड की कॉपियों के मूल्यांकन के दौरान कॉपियों में लिखी चिट्ठियों में मिली जिनमें से एक में लिखा था कि गुरूजी मैं गरीब हूं। मजदूरी करके अपने बूढ़े मां-बाप का भेट पाल रहा हूं। इसी वजह से मैं क्लास भी नहीं कर सका कृपया करके मुझे पास कर दीजिए। इस दौरान कोई छात्र तो अपनी कॉपियों में पैसे और चि-ी रखकर शिक्षकों से पास किए जाने की गुहार लगा रहे हैं। यूपी बोर्ड की कॉपियों की जांच जिले में पांच केंद्रों पर चल रही है। एक केंद्र में हाईस्कूल की गणित की कॉपी की जांच के दौरान एक छात्र की कॉपी से 50 रुपये का नोट निकला था। वहीं एक दूसरे शिक्षक ने जब कॉपी खोली, तो उसमें से एक चिटठी लिखी मिली। जिसे पढऩे के बाद सभी की हंसी छूट गई। छात्र ने चिटठी में टूटी-फूटी हिन्दी का प्रयोग किया था। छात्र ने लिखा कि वह गरीब है और मजदूरी करके अपने परिवार का पेट पालता है। जितना उससे हो सकता था, उसने लिखा और तो और उसने यह भी लिखा कि वह परिवार की जिम्मेदारियों के कारण क्लास भी नहीं जा सका। वे उसकी गरीबी को समझकर कृपया उसे पास कर दें।

Share it
Top