मेरठ: डीएम की चेतावनी सुधर जाओ अन्यथा कार्यवाही को रहे तैयार, कोई फरियादी बिना निस्तारण के न जाए वापस

मेरठ: डीएम की चेतावनी सुधर जाओ अन्यथा कार्यवाही को रहे तैयार, कोई फरियादी बिना निस्तारण के न जाए वापस

मेरठ। जिलाधिकारी अनिल ढींगरा ने अधिकारियों को निर्देशित किया कि वे फरियादी के दर्द को अपना दर्द समझकर पूर्ण मनोयोग व ईमानदारी से उसकी समस्या व पीड़ा का गुणवत्तापूर्ण तय समयसीमा के अन्तर्गत निस्तारण सुनिश्चित करें। उन्होंने अधिकारियों व कर्मचारियों को सख्त हिदायत देते हुए कहा कि वे अपनी कार्यप्रणाली में आवश्यक सुधार लायें तथा पीडि़त को न्याय दिलाने में किसी प्रकार की ढिलाई न बरतें। उन्होंने कहा कि यदि फरियादी/शिकायतकर्ता अपनी समस्याओं का समय से व गुणवत्तापूर्ण निस्तारण न होने के कारण फिजूल में इधर-उधर भटकेगा तो इसके लिये सम्बंधित दण्ड का भागीदार होगा।
उन्होंने कहा कि तहसील समाधान दिवस का आयोजन शासन द्वारा पीडि़तों/फरियादियों को त्वरित एवं पारदर्शी न्याय दिलाने के लिये किया जाता है, इसलिए सभी अधिकारी शासन की मंशा के अनुरूप कार्य करें। उन्होंने अधिकारियों को हिदायत दी की वह फरियादी की समस्याओं के निस्तारण में उसकी संतुष्टि का अवश्य ध्यान रखें। जिलाधिकारी अनिल ढींगरा ने उक्त निर्देश आज तहसील मेरठ में आयोजित तहसील समाधान दिवस की अध्यक्षता करते हुए उपस्थित अधिकारियों को दिये। उन्होंने अधिकारियों से कहा कि वह सुनिश्चित करें कि उनके विभाग में कोई भी समस्या बिना निस्तारण के लम्बित न रहे तथा कोई फरियादी अपनी समस्याओं के निस्तारण के लिए फिजूल में इधर-उधर न भटके। उन्होंने लम्बित सन्दर्भो की समीक्षा करते हुए सम्बंधित अधिकारियों को निर्देश दिये कि जिन विभागों की शिकायतें अभी भी लम्बित हैं वह उसका समय से गुणवत्तापूर्ण निस्तारण करें और उसकी निस्तारण आख्या से फरियादी को अवश्य अवगत करायें। तहसील समाधान दिवस में आज जिलाधिकारी के समक्ष 37 प्रार्थनापत्र/शिकायती पत्र प्रस्तुत हुए जिसमें से ०6 का मौके पर निस्तारण कर दिया गया तथा शेष शिकायतें जांच से सम्बंधित थी जिन्हें सम्बंधित अधिकारियों के नाम अंकित कर उनसे निस्तारण की समय अवधि जानते हुए निस्तारण करने के निर्देश दिये। तहसील दिवस में आज मुख्यत: राजस्व विभाग, पुलिस, विकास विभाग, नगर निगम, पंचायत, कृषि, एमडीए, आपूर्ति विभाग, डूडा, आवास विकास, समाज कल्याण, सहित विभिन्न विभागों की शिकायती पत्र/प्रार्थना पत्र प्राप्त हुए। तहसील समाधान दिवस समाप्ति के बाद जिलाधिकारी व अन्य प्रशासनिक अधिकारियों ने तहसील परिसर में आयोजित बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ हस्ताक्षर अभियान में इसकी उपयोगिता को दर्शाते हुए अपने विचार अंकित कर अपने हस्ताक्षर किये।इस अवसर पर वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक मंजिल सैनी, मुख्य विकास अधिकारी आर्यका अखौरी, सीएमओ डॉ राज कुमार, सचिव एमडीए राजकुमार, अपर जिलाधिकारी नगर मुकेश चन्द्र, एसपी सिटी मान सिंह चौहान, अपर नगर आयुक्त एएच कर्नी, डीडीओ अतुल मिश्रा, परियोजना निदेशक भानू प्रताप, तहसीलदार सन्तोष कुमार सहित अन्य जनपद स्तरीय अधिकारी उपस्थित रहे।

Share it
Top