सामाजिक सद्भाव और एकता का संदेश देंगे मोहन भागवत

सामाजिक सद्भाव और एकता का संदेश देंगे मोहन भागवत


मेरठ। राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ के यहां होने वाले संघ समागम 'राष्ट्रोदय' में सर संघचालक मोहन भागवत पश्चिमी उत्तर प्रदेश के 14 जिलों के तीन लाख से अधिक स्वयंसेवकों को सामाजिक सद्भाव और एकता का संदेश देंगे।
इतने बड़े पैमाने पर संघ कार्यकर्ताओं के जमा होने के मद्देनजर सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किये गये हैं। शहर में हाई एलर्ट जारी कर दिया गया है। कार्यक्रम स्थल को एटीएस और एनएसजी कमांडों के हवाले किया गया है। समारोह स्थल के आसपास 20 कंपनी पीएसी और आरएएफ के पांच हजार पुलिसकर्मियों को सुरक्षा व्यवस्था में लगाया गया है।
'राष्ट्रोदय' के नोडल सुरक्षा अधिकारी मान सिंह चौहान ने आज यहां 'यूनीवार्ता' को बताया कि संघ समागम में लाखों की संख्या में स्वयंसेवकों के शामिल होने को देखते हुए सुरक्षा के कड़े बंदोबस्त किये गये हैं।
उन्होंने बताया कि इसके तहत दस अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक, 52 पुलिस उपाधीक्षक, 100 पुलिस निरीक्षक, 420 उप निरीक्षक, 2200 कांस्टेबल, 20 कंपनी पीएसी और आरआरएफ को तैनात किया गया है।
उन्होने बताया कि इसमें शामिल होने के लिये सहारनपुर, मुजफ्फरनगर, मुरादाबाद, अमरोहा, गढ़मुक्तेश्वर, हापुड़, गाजियाबाद आदि जिलों से कार्यकर्ताओं का मेरठ पहुंचना जारी है। इसी के तहत रेलवे बोर्ड ने आरपीएफ को सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किये जाने के आदेश दिये है।
मेरठ के प्रांत प्रचार प्रमुख अजय मित्तल ने आज बताया कि 'राष्ट्रोदय' में तीन राज्यों के मुख्यमंत्रियों का आना तय माना जा रहा है। इसमें उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ, हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहरलाल खट्टर और उत्तराखंड से मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र रावत शामिल हैं। उन्होंने बताया कि संघ समागम में पहली बार तीन लाख 20 हजार स्वयंसेवकों का पंजीकरण हुआ है जिसमें सबसे अधिक संख्या युवाओं की है।
श्री मित्तल ने दावा किया है कि तीन जनवरी 2016 को संघ के पुणे में हुए समागम के बाद मेरठ का 'राष्ट्रोदय' सबसे बड़ा समागम होगा।उन्होंने बताया कि मेरठ के जागृति विहार एक्सटेंशन के 600 एकड़ में करीब 15 हजार स्वयंसेवकों ने दिन रात काम करके भव्य कार्यक्रम स्थल को तैयार किया है जहां 250 टन लोहे से मंच को त्रिस्तरीय सुरक्षा दी गई है।
नोडल सुरक्षा अधिकारी ने बताया कि कि 'राष्ट्रोदय' मंच के आगे, दाएं और बाएं कोई पुलिसकर्मी तैनात नहीं रहेगा, सिर्फ मंच के पीछे लिफ्ट के आसपास दो आईपीएस अधिकारियों और स्पेशल कमांडो की डि्यूटी लगाई गई है।
उन्होंने बताया कि मेरठ जिला प्रशासन ने यहां कलक्ट्रेट स्थित सिविल डिफेंस कार्यालय को कंटोल रूम बनाया है।यह कंटोल रूम प्रात छह बजे से रात 12 बजे तक काम करेगा। कंट्रोल रूम में प्रशासनिक अधिकारियों एवं कर्मचारियों की छह- छह घंटे की डि्यूटी लगाई गई है।

Share it
Top