मेरठ: जाति सूचक शब्द बोलने व मारपीट का आरोप...उपजिलाधिकारी से संतोष भरा जवाब न मिलने पर दी आत्मदाह की चेतावनी

मेरठ: जाति सूचक शब्द बोलने व मारपीट का आरोप...उपजिलाधिकारी से संतोष भरा जवाब न मिलने पर दी आत्मदाह की चेतावनी

मेरठ। फीस माफी की मांग की तो प्रिंसिपल ने जाति सूचक शब्दों का इस्तेमाल करते हुए छात्रा की जमकर पिटाई की और कॉलिज से निकाल दिया। जिसकी शिकायत लेकर छात्रा अपनी माँ के साथ उपजिलाधिकारी के यहाँ पहुंची शिकायत पर ध्यान न देने पर पीडिता ने उपजिलाधिकारी को आत्मदाह की चेतावनी दे डाली, जिस पर उपजिलाधिकारी को महिला पुलिस को बुलाना पड़ा। पीडिता ने दाखिला न मिलने पर आत्मदाह करने की चेतावनी दी है।
सरधना थानाक्षेत्र के मोहल्ला आदर्शनगर निवासी त्रिवुधन जाटव की पत्नी किशनावती ने बताया की उसकी पुत्री सोनिया नगर के संत जोजफ़ गर्ल्स डिग्री कालिज में बीए की छात्रा है बीए फ़ाइनल के एडमीशन के लिए मेरी पुत्री ने आर्थिक तंगी के चलते फीस माफ़ी के लिए प्राचार्या को एक प्रार्थना पत्र दिया था। प्राचार्या ने फीस माफ न करने की बात कही जिसके चलते वह अपनी पुत्री को उपजिलाधिकारी ज्ञान प्रकाश यादव के पास लेगई और कालिज से फीस माफ़ कराने के लिए प्रार्थना पत्र दिया। जिसपर उपजिलाधिकारी ने कालिज की प्राचार्या को फीस माफ़ करने के लिए लिख दिया जैसे ही उसकी पुत्री सोनिया उपजिलाधिकारी वाला पत्र प्राचार्या के पास लेकर पहुंची तो उसे देखते ही प्राचार्या आग बबूला हो गई और जाति सूचक शब्दों का प्रयोग करते हुए मारपीट करने लगी और कालिज से नाम काटने की बात कहकर उसे वहां से भगा दिया। जिसके बाद उसकी पुत्री वापस घर आगई पीडिता इसके बाद पूरी फीस लेकर कालिज गई तो प्राचार्या ने किसी भी सूरत में सोनिया को एडमीशन देने से इंकार कर दिया। पीडिता इसके बाद उपजिलाधिकारी ज्ञान प्रकाश के पास पहुंची और पूरी बात बताते हुए मदद की गुहार लगाई उपजिलाधिकारी की और से संतोष भरा जवाब न मिलने पर छात्रा की माँ ने शुक्रवार तक दाखिला न मिलने पर शनिवार को उपजिलाधिकारी के कार्यलाय के सामने पुत्री सहित आत्मदाह करने की चेतावनी दे डाली। जिसके बाद उपजिलाधिकारी ने महिला पुलिस कर्मियों को बुलाया इस बीच छात्रा की माँ वहां से चली गई लेकिन जाते समय भी शुक्रवार तक एडमीशन न मिलने पर शनिवार को आत्मदाह करने की चेतावनी देकर गई है

Share it
Top