परीक्षितगढ़ पुलिस का खेल, जानलेवा हमले में दर्ज की एनसीआर

परीक्षितगढ़ पुलिस का खेल, जानलेवा हमले में दर्ज की एनसीआर

मेरठ,। परीक्षितगढ़ पुलिस पर जानलेवा हमले की घटना को मात्र एनसीआर में दर्ज करने का आरोप लगाते हुए सोमवार को पीड़ित पक्ष के लोग कप्तान से मिले। उन्होंने अपनी सुरक्षा और आरोपियों के खिलाफ कार्यवाही की मांग की।
किला परीक्षितगढ़ थाना क्षेत्र के एंचीकलां निवासी राहुल पुत्र मूलचंद ने बताया कि उसका परिक्षितगढ़ में कोचिंग सेंटर है। उसने बताया कि एक वर्ष पूर्व उसकी किला परीक्षितगढ़ कस्बे के रामनगर मोहल्ला निवासी सौरभ त्यागी व हैप्पी त्यागी से मामूली कहासुनी हो गई थी। उसने आरोप लगाया कि इसी रंजिश में बीती सात फरवरी को कार सवार सौरभ और हैप्पी त्यागी ने उस पर हमला बोल दिया। उस पर फायरिंग करने के बाद आरोपी फरार हो गए, हालांकि इस जानलेवा हमले में वह बाल-बाल बच गया। आरोप है कि इस घटना की तहरीर देने पर पुलिस ने आरोपियों के खिलाफ मात्र एनसीआर दर्ज कर अपना पिंड छुड़ा लिया।
राहुल ने थाना पुलिस पर आरोपियों से साठगांठ का आरोप लगाया। उसने आरोप लगाया कि खुले घूम रहे आरोपी उसे हत्या की धमकी दे रहे हैं। उसने एसएसपी मंजिल सैनी से आरोपियों के खिलाफ उचित धाराओं में कार्यवाही और अपनी सुरक्षा की मांग की।

Share it
Top