मेरठ: अपराध में नियंत्रण में मेरठ जोन पुलिस अव्वल: डीजीपी

मेरठ। यूपी के डीजीपी ओपी सिंह ने कहा कि पिछले एक साल में कानून व्यवस्था में सुधार हुआ है। शांति व्यवस्था कायम हुई है। जनता में पुलिस के प्रति विश्वास बढ़ा है। इसे हमें कायम रखना है। वह शनिवार को यहां मेरठ सहित नौ जिलों की कानून-व्यवस्था की समीक्षा की। इसमें एडीजी, आईजी, सभी जिलों के एसएसपी के साथ मेरठ के थानेदार भी शामिल हुए।
प्रदेश पुलिस के मुखिया डीजीपी ओपी सिंह ने जिले की कप्तान मंजिल सैनी दहल की सराहना की। वहीं क्राइम कंट्रोल में मेरठ जोन की पुलिस को अव्वल बताया। मेरठ पहुंचें डीजीपी ने पुलिस लाइन में जोन के दोनों डीआईजी और नो कप्तानों से जिलेवार उनके जनपद में हुए गुडवर्क और अनसुलझी वारदातों पर चर्चा करते हुए खुलासे के निर्देश दिए। इसी के साथ महिला उत्पीडऩ संबंधित अपराधों पर त्वरित कार्यवाही और माफियाओं व शातिरों के खिलाफ कड़ी कार्यवाही के आदेश दिए।
इस दौरान उन्होंने नोएडा के फर्जी एनकाउंटर पर नाराजगी जताई। उन्होंने नोएडा मामले को पुलिस क्रैक डाउन बताया। हालांकि कई अन्य एनकाउंटर पर पुलिस की तारीफ की। नोएडा के एसएसपी लव कुमार से बोले डीजीपी, अपने दरोगाओं को काबू में रखें। डीजीपी ने पुलिसकर्मियों का मनोबल बढ़ाने के लिए उत्कृष्ट कार्य करने वाले पुलिसकर्मियों को हर माह कॉप आफ द मंथ का अवार्ड दिए जाने की घोषणा की। इसी के साथ जानकारी देते हुए बताया कि शिकायतकर्ताओं को एसएमएस के जरिये कार्यवाही की सूचना दी जाएगी। डीजीपी लगभग चार घंटे शहर में रहे, इस दौरान पुलिस अधिकारियों की सांस थमी रहीं।
डीजीपी ने किया क्राइम ब्रांच की नई बिल्डिंग का उद्घाटन
बैठक के बाद डीजीपी पुलिस लाइन में एक करोड़ की लागत से बने क्राइम ब्रांच की नई बिल्डिंग का उद्घाटन करने पहुंचें। बताते चलें कि उक्त बिल्डिंग में एसपी क्राइम, सीओ क्राइम, इंटेलिजेंस, साइबर, स्वाट, आईजीआरएस आदि शाखाओं के कार्यालय बनाए गए हैं। वहीं ट्रैफिक एंजल्स की स्कूटियों को हरी झंडी दिखाकर पुलिस लाइन से रवाना किया। पत्रकारों से संक्षिप्त वार्ता करते हुए डीजीपी ने मेरठ जोन की पुलिस को अपराध नियंत्रण में हर जोन से अव्वल बताया। जिले की एसएसपी मंजिल सैनी दहल की भी सराहना की। डायल 100 का रेस्पांस टाइम घटने पर चिंता प्रकट करते हुए डायल 100 को और सशक्त बनाने के लिए उन्हें बाइकों से लैस किए जाने के संकेत दिए।

Share it
Top