मेरठ: अवैध निर्माण रोकने गई टीम का पब्लिक ने किया विरोध...छावनी परिषद के अधिकारियों को बताया वृद्धा की मौत का कारण

मेरठ। कोर्ट के आदेश का अनुपालन कराने के लिए 210 बी में अवैध निर्माण रोकने पहुंचे छावनी परिषद के अधिकारियों को पब्लिक के विरोध का सामना करना पड़ा। इसी दौरान बंगला एरिया में रहने वाली एक वृद्धा की मौत हो गई। पब्लिक ने वृद्धा की मौत के लिए छावनी परिषद के अधिकारियों को जिम्मेदार बताते हुए हंगामा किया तो अधिकारी वहां से खिसक गए। दरअसल, हाईकोर्ट ने बंगला नम्बर 210 बी को अवैध निर्माण से मुक्त कराने के निर्देश दिए है। इसके बावजूद कुछ लोगों ने उक्त स्थान पर धड़ाधड़ अवैध निर्माण कर डाले। उक्त निर्माणों के समय में तो छावनी परिषद के अधिकारी कागजी कार्यवाही में जुटे रहे। लेकिन जब मामला सुर्खियों में आया तो शुक्रवार को छावनी परिषदके सहायक अभियंता पीयूष गौतम दल-बल के साथ उक्त अवैध निर्माणों को रूकवाने के लिए मौके पर पहुंच गए। इस दौरान एसपी सिटी मान सिंह चौहान, एएसपी सतपाल सिंह, एडीएम सिटी मुकेशचंद, एसीएम अमिताब यादव और कई थानों की पुलिस फोर्स भी मौजूद रही। उधर, अवैध निर्माण कर्ताओं के समर्थन में उतरते हुए व्यापारियों ने हंगामा कर दिया। हाथों में स्लोगन लिखी तख्तियां लेकर हंगामा करते हुए व्यापारियों ने अवैध निर्माण के जिम्मेदार तत्कालीन सीईओ राजीव श्रीवास्तव और एई पीयूष की गिरफ्तारी कीमांग की। इस दौरान बंगला एरिया में रहने वाली एक वृद्धा की एकाएक मौत हो गई। जिसके बाद पब्लिक ने केंट बोर्ड के अधिकारियों को वृद्धा की मौत का जिम्मेदार बताते हुए बखेड़ा कर दिया। वहीं मामला बिगड़ते देख केंट बोर्ड के अधिकारी मौके से खिसक गए।

Share it
Top