मेरठ: दुष्कर्म पीडि़ता के परिजनों को पुलिस ने थाने से भगाया

मेरठ: दुष्कर्म पीडि़ता के परिजनों को पुलिस ने थाने से भगाया

मेरठ। पहुंचे दुष्कर्म पीडि़ता के परिजनों को पुलिस ने थाने से भगा दिया। पीडि़तों का आरोप है कि पुलिस ने उनके मामले को फर्जी बताया और उल्टा उन पर ही एक मुकदमा दर्ज करने की धमकी भी दे डाली। पुलिस के इस रवैइये से क्षुब्ध पीडि़त किशोरी के परिजन न्याय की गुहार लेकर एसएसपी के यहां रवाना हो गए थे। परिजनों ने कार्रवाई न होने पर आत्मदाह की चेतावनी भी दी है।
बतादें कि बीती 11 जनवरी को ईकड़ी गांव में एक युवक ने पड़ौसी घर में घुसकर वहां अकेली मिली किशोरी से चाकू के बल पर दुष्कर्म किया था। विरोध करने पर आरोपी ने उसको बेरहमी से पीटा था और किसी से इस बारे में बताने पर जान से मारने की धमकी देकर फरार हो गया था। किशोरी के पिता ने गांव के ही राजू पुत्र ओमी व शकुंतला पत्नी संतराम के खिलाफ थाने में मुकदमा दर्ज कराया था। आरोप है कि पुलिस ने उस समय राजू को हिरासत में लिया था और सेटिंग हो जाने पर उसका मात्र शांति भंग में चालान कर दिया था। आरोप है कि अब वह उनपर मुकदमा वापस लेने का दबाव बना रहा है। किशोरी की मां-पिता व अन्य परिजन कार्रवाई की मांग को लेकर थाने पहुंचे। आरोप है कि एसओ ने उनकी एक न सुनी और उनका मुकदमा झूठा होने की बात कहकर उन्हें थाने से भगा दिया। साथ ही उन पर मुकदमा लगाने की भी धमकी दी। थाने से कार्रवाई न होते देख पीडि़त किशोरी के परिजन न्याय की गुहार लेकर एसएसपी के यहां पहुंचे। परिजनों ने कहा कि यदि उन्हें न्याय नहीं मिला तो वह थाने में आकर आत्मदाह करेंगे।

Share it
Top