मेरठ: ग्राम प्रधान ने दी धर्म परिवर्तन करने की चेतावनी...तालाब पर कर रखा है कुछ दबंगों ने अवैध कब्जा

मेरठ: ग्राम प्रधान ने दी धर्म परिवर्तन करने की चेतावनी...तालाब पर कर रखा है कुछ दबंगों ने अवैध कब्जा

मेरठ। झिटकरी में चल रहे नाला निर्माण विवाद रुकने का नाम नहीं ले रहा है इस मामले को लेकर दोनों पक्ष अपनी अपनी बात पर अड़े हुए है। मामले को सुलझाने को लेकर दोनों पक्ष लगातार अधिकारीयों के चक्कर काट रहे है। अब मामला यहाँ तक पहुँच गया की गांव के प्रधान ने डीएम और एसएसपी के सामने धर्म परिवर्तन करने की चेतावनी दे डाली। अब देखना है की अधिकारी मसले का हल कब तक करेंगे। बतादे की गांव में लम्बे समय से जलभराव की समस्या चली आ रही है।
गौरतलब है कि तीन दिन पूर्व गांव झिटकरी निवासी सुरेश शर्मा, मुनेश शर्मा, लोकेश शर्मा, दिनेश शर्मा, पुत्रगण बलबीर व शांति देवी पत्नी बलबीर ने थाने में तहरीर देते हुए बताया था की गांव के निकट खसरा संख्या 724, 726,728/02, 729, 767 है। ग्राम प्रधान संत सिंह गांव से निकलने वाले गंदे पानी को तालाब की जगह उनकी खेतों में जबरदस्ती चला रहा था। इस संबंध में कोर्ट का दरवाजा खटखटाया था। कोर्ट का स्टे लेने के बाद हमने अपने खेतों में जाने वाले पानी को बंद कर दिया था। जिसके बाद घरों से निकलने वाला पानी रास्तों पर फ़ैल गया था। जिसके चलते कुछ ग्रामीण उपजिलाधिकारी से मिले थे और गांव की गली गलियारों में हुए जलभराव की समस्या से निजात दिलाए जाने की मांग की थी। अधिकारियों के दिशा-निर्देश पर गत 6 जनवरी की सुबह कार्यवाहक बीडीओ तरसपाल पुंडीर, एडीओ पंचायत हीराला, पीडब्लुडी जेई नरेंद्र व सचिव सचिन कुमार रास्ते पर भरे पानी को छोटे तालाब में डायवर्ट कराने पहुंचे थे। टीम ने अपना कार्य शुरू ही किया ही था कि कुछ दबंग ग्रामीणों मौके पर पहुंचकर हंगामा खड़ा करते हुए टीम को बंधक बना लिया था और तालाब में पानी को नहीं पहुँचने दिया था। कारण है की कुछ लोगों ने तालाब संख्या 735 पर अवैध कब्ज़ा कर रखा ह,ै जिसके चलते गांव का गन्दा पानी तालाब तक नहीं पहुंचने देते है और दबंग ग्रामीण जबरदस्ती उस पानी को उनके खेत में खोलते रहते है। जिससे उनकी फसल बर्बाद होती रहती है। उक्त पीडि़त किसानो ने बताया की 13 जनवरी की रात में ग्राम प्रधान सन्त सिंह पुत्र कवरपाल, शिवदत्त पुत्र मुरारी, जयपाल पुत्र राज सिंह, अरविन्द पुत्र सुरेशपाल, सतीश पुत्र रघुवर, योगेश पुत्र ओमप्रकाश, मनोज पुत्र निर्मल, अन्नू पुत्र महेन्द्र, ने नाले का पानी उनके खेतो में खोल दिया विरोध करने पर उक्त लोग मारपीट पर अमादा हो गए किसी तरह वह जान बचाकर वहां से निकले जलभराव के चलते उनकी फसल बर्बाद हो गई है। पीडि़त किसानों ने थाने पहुंचकर उक्त आरोपियों के खिलाफ कार्रवाई की मांग की थी। पुलिस ने मामले की जाँच कर कार्रवाई का आश्वासन दिया था। तहसील दिवस कार्यक्रम में डीएम समीर वर्मा व एसएसपी मंजिल सैनी दहल जनसमस्या सुनने के लिए पहुंचे थे। तब भी ग्राम प्रधान संत सिंह अपने समर्थको के साथ पहुंचा और गांव में हो रहे जलभराव की समस्या के बारे में बताया। प्रधान ने समाधान न होने पर धर्म परिवर्तन की चेतावनी दे डाली। अधिकारीयों ने मामले का संज्ञान लिया और शीघ्र समाधान करने का आश्वासन दिया है।

Share it
Top