मेरठ: झिटकरी के ग्रामीणों ने ब्लॉक की टीम को बनाया बंधक

मेरठ: झिटकरी के ग्रामीणों ने ब्लॉक की टीम को बनाया बंधक

मेरठ। सरधना थानाक्षेत्र के झिटकरी गांव में दूषित पानी निकासी को लेकर चल रहे विवाद को सुलझाने व समस्या का समाधान कराने पहुंची ब्लॉक टीम को ग्रामीणों ने बंधक बना लिया। टीम ग्रामीणों द्वारा खोले गए पानी को बंद कराकर उसको छोटे तालाब में डायवर्ट करने गई थी। जिसका ग्रामीणों ने विरोध किया और टीम को बंधक बनाकर हंगामा खड़ा कर दिया। किसी तरह ग्रामीणों के चंगुल से टीम निकलकर वापस आई। वहीं पानी निकासी को लेकर गांव में अभी भी तनाव का माहौल है। बतादें कि झिटकरी गांव में काफी लम्बे समय से पानी निकासी को लेकर विवाद चला आ रहा है। निकासी का जो नाला है, उसका पानी एक खेत में जा रहा है। खेत मालिकों ने इसका विरोध करते हुए अधिकारियों से गुहार लगाई थी, लेकिन कोई समाधान नहीं हुआ। फिलहाल इस मामले को लेकर कोर्ट में मुकदमा भी विचाराधीन है। पीडि़त खेत मालिकों ने उच्च अधिकारियों को पत्र लिखकर समस्या के समाधान की मांग की। अधिकारियों के दिशा-निर्देश पर कार्यवाहक बीडीओ तरसपाल पुंडीर, एडीओ पंचायत हीरालाल, पीडब्लुडी जेई नरेंद्र व सचिव सचिन कुमार उक्त नाले को बंद कराकर उसका पानी छोटे तालाब में डायवर्ट कराने पहुंचे। टीम ने अभी अपना कार्य शुरू की किया था कि ग्रामीणों को इसका पता चला गया। उन्होंने मौके पर पहुंचकर नाला बंद किए जाने का विरोध किया और हंगामा खड़ा करते हुए टीम को बंधक बना लिया। ग्रामीणों ने खुले शब्दों में चेतावनी दी कि वह किसी भी कीमत पर नाले को बंद नहीं होने देंगे। ब्लॉक टीम ने उन्हें समझाने का प्रयास किया, लेकिन ग्रामीण शांत नहीं हुए। बाद में टीम ने ग्रामीणों को समझाया और वहां से निकलकर अपनी जान बचाई। उधर, मामले को लेकर गांव में तनाव का माहौल बना हुआ है। जिसको लेकर अधिकारी गंभीर हैं। उधर ग्राम प्रधान संत सिंह से बात की गई तो उन्होंने बताया कि नाले की इस समस्या को एसडीएम राकेश कुमार अपने स्तर से न निपटाकर उनके ऊपर डाल रहे हैं। जिसकी वह मुख्यमंत्री से शिकायत करेंगे।

Share it
Top