मेरठ: राजनाथ सिंह के करीबी धर्मसिंह सैनी का निधन...दहेज प्रथा को पूरी तरह से समाप्त करने का उठाया था बीड़ा

मेरठ: राजनाथ सिंह के करीबी धर्मसिंह सैनी का निधन...दहेज प्रथा को पूरी तरह से समाप्त करने का उठाया था बीड़ा

मेरठ। दहेज प्रथा को पूरी तरह से समाप्त करने का बीड़ा उठाने वाले भाजपा नेता धर्मसिंह सैनी का निधन हो गया। तीन साल से वे समाज को जागरूक करने का प्रयास कर रहे थे। दहेज को अभिशाप मानने वाले भाजपा नेता के निधन से समाज को भारी क्षति पहुंची। उनके निधन पर क्षेत्र में शोक की लहर फैल गई। धर्मसिंह सैनी गृहमंत्री राजनाथ सिंह, पूर्व केंद्रीय मंत्री संजीव बालियान, सांसद राजेंद्र अग्रवाल, विधायक संगीत सोम के बेहद करीबी थे।
ग्राम बातनौर निवासी धर्मसिंह सैनी वर्ष-1970 से भाजपा से जुड़े। राजनैतिक कॅरियर की शुरूआत पूर्व जिलाध्यक्ष डा. वेद प्रकाश कौशिक के साथ मिलकर की। शुरूआती दौर में भाजपा ने मवाना देहात क्षेत्र का महामंत्री बनाया था। वर्ष-1988 में जिला मंत्री और फिर जिला उपाध्यक्ष बनाया। धर्मसिंह सैनी 15 वर्षों तक लगातार जिला उपाध्यक्ष बने रहे। वर्ष-1989 में पूर्व विधायक अमरपाल और फिर सरधना विधानसभा क्षेत्र से संगीत सोम को जिताने में अहम भूमिका धर्मसिंह सैनी ने निभाई थी। भाजपा प्रदेश कमेटी में सदस्य के अलावा धर्मसिंह सैनी कई सामाजिक संगठनों से भी जुड़े रहे। वे फिलहाल ऑल इंडिया सैनी सेवा संगठन में जिला उपाध्यक्ष थे। दहेज के नाम पर आए दिन होने वाली घटनाओं से श्री सैनी परेशान रहते थे। दहेज प्रथा को खत्म करने के लिए कई वर्ष पूर्व उन्होंने बीड़ा उठाया। इसकी शुरूआत उन्होंने अपने पुत्रों की शादी से की और दहेज नहीं लिया था। कहना था कि दहेज जहर की तरह है जो बेटियों की जिंदगी को धीरे-धीरे समाप्त करता है। धर्मसिंह सैनी के शिक्षक पुत्र ओमपाल ने बताया कि 24 दिसम्बर को पिताजी की चेस्ट में अचानक दर्द उठा। तत्काल उनको निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया, लेकिन आराम नहीं मिला और निधन हो गया। श्री सैनी अपने पीछे पत्नी कैलाशो देवी के अलावा पुत्र कृष्णपाल, मिंटू, ओमपाल व यशपाल तथा पुत्रियां कृष्णा, सुदेशना को छोड़कर गए। मौत की खबर सुनकर पूर्व केंद्रीय मंत्री डा. संजीव बालियान, सांसद राजेंद्र अग्रवाल, विधायक संगीत सोम के अलावा अन्य राजनैतिक पार्टी के लोग शौक संवेदना व्यक्त करते पहुंचे।

Share it
Top