मेरठ: पुरानी रंजिश में युवक को गोली मारी, गंभीर...विधायक के साथ दलित समाज के लोगों ने घेरा थाना

मेरठ। टीपीनगर के पूठा गांव में दो माह पूर्व हुए जातीय विवाद ने बुधवार को खूनी रूप ले लिया। गांव के गुर्जर जाति के दो युवकों ने एक दलित युवक को गोली मार दी। बताते चलें कि दो माह पूर्व भी पूठा गांव में गुर्जर और दलित युवकों के बीच युवतियों और महिलाओं से छेड़छाड़ को लेकर विवाद हुआ था। एक विधायक की मध्यस्ता से दोनों पक्षों के बीच समझौता हो गया था। घटना के बाद दलित समाज के लोगों ने थाने पहुंचकर आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए जमकर हंगामा किया। घायल के दादा ने एक नामजद सहित तीन अज्ञात कि खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया है।
बुधवार को पूठा गांव का निवासी दलित युवक 17 वर्षीय नीरज पुत्र नरेन्द्र कुछ लोगों के साथ आग ताप रहा था। इसी बीच सुबह करीब नौ बजे वह लघुशंका के लिए इंडियन ऑयल डिपो की दीवार के पास गया। आरोप है कि वहां घात लगाए खड़े गांव के निवासी अंकित भाटी पुत्र प्रसादीलाल और एक अन्य युवक ने नीरज पर फायर झोंक दिया। हमलावरों द्वारा चलाई पहली गोली मिस होने पर उन्होनें दूसरी गोली चलाई जो नीरज की पीठ में लगी। हमलावर आर वन और पल्सर बाइकों पर फरार हो गए। घटना के बाद ग्रामीणों ने घायल नीरज को केएमसी हॉस्पिटल में भर्ती कराया, जहां उसकी हालत गंभीर बनी है। हॉस्पिटल पहुंचें घायल के बड़े भाई तरूण ने बताया कि नीरज डीजे का काम करता है।
गौरव के अनुसार उसके दादा क्षेत्र के पार्षद रह चुके हैं। उधर पुलिस ने आरोपियों की तलाश में गांव में दबिस दी, लेकिन आरोपी घरों से फरार हो चुके थे। क्षेत्र के ग्रामीणों ने बताया कि आरोपी अंकित करीब डेढ़ वर्ष पहले गांव में हुई वाल्मीकि युवक बाली की हत्या के मामले में जेल गया था। करीब छह माह पूर्व ही वह जमानत पर रिहा हुआ है। पुलिस ने अंकित सहित तीन अज्ञात युवकों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया है। वहीं आरोपियों की जल्द से जल्द गिरफ्तारी के लिए दक्षिण विधान सभा के विधायक डा. सोमेन्द्र तोमर के साथ सैकड़ों दलित समाज के लोग थाने पहुंचे और आरोपियों को जल्द से जल्द गिरफ्तार करने की मांग की है। वहीं एसओ का कहना है कि गुंडागर्दी कतई भी बर्दाश्त नहीं होगी। आरोपियों को गिरफ्तार कर कड़ी कार्यवाही की जाएगी।

Share it
Top