मेरठ: सवधान इंडिया देखकर जीजा को उतारा मौत के घाट...जीजा का अपहरण कर कबूली हत्या, अपहरण में भेजा जेल

मेरठ: सवधान इंडिया देखकर जीजा को उतारा मौत के घाट...जीजा का अपहरण कर कबूली हत्या, अपहरण में भेजा जेल

मेरठ। पिछले 21 दिनों स गायब चल रहे फौजी का मामला कंकरखेड़ा पुलिस न सुलझा दिया। फौजी का अपहरण करके उसकी साली ने ही उसे मौत के घाट उतारा था और एक युवक के साथ शव को नहर में बहाकर ठिकाने लगाया था। पुलिस ने सर्विलांस के जरिए घटना का खुलासा किया। महिला ने अपना जुर्म कबूल कर लिया है। जिसके बाद पुलिस ने आरोपी को महिला को जेल भेज दिया है।
कंकरखेड़ा पुलिस ने बताया कि थानाक्षेत्र के रोहटा रोड नंद बिहार निवासी आर्मी से रिटायर फौजी सुभाष पुत्र महेन्द्र 5 दिसंबर 2017 से गायब था। वह परिजनों को मुजफ्फरनगर अपनी साली सुनीता के पास जाने की बात कहकर निकला था। जिसके बाद से वह वापस नहीं लौटा था। सुभाष की पत्नि अनीता और भाई ने तीन दिन बाद थाने मे सुभाष की गुमशुदगी दर्ज कराई थी। सुभाष की अल्टो कार सरधना रोड पर कई दिनों तक लावारिस में बरामद की गयी थी। पुलिस ने सुभाष के नम्बरों को सर्विलांस पर लगाकर जांच-पड़ताल की तो उसकी लोकेशन चरथावल मुजफ्फरनगर में रह रही सुभाष की साली सुनीता के घर पर मिली, जिसके बाद से उसके मोबाईल बन्द आ रहे थे। पुलिस ने शक के आधार पर मृतक की साली सुनीता पत्नि मोहरपाल को पूछताछ के लिए हिरासत मे ले लिया। पुलिस की सख्ती के सामने सुनीता नही टिक पायी और अपना जुर्म कबूल करते हुए बताया कि सुभाष मेरे मकान पर आकर शराब पीकर गलत व्यवहार करता था और मेरे विरोध करने पर मुझे डराता-धमकाता था। उस रात सुभाष मेरे मकान पर आया, जिसको नींद की गोली खिलाकर, सल्फाज की दो गोली उसके मुंह मे जबरजस्ती डाल कर बेहोशी की हालत में मुश्सल से सिर मे वार करते हुए सुभाश को मार दिया था। शव को ठिकाने लगाने के लिए एक अपनी बहन के देवर सूरज को बुलाया था। सुभाष की गाडी में शव को डालकर खतौली गंगनहर में डाल दिया था। जिसके बाद उसकी गाड़ी को कंकरखेडा के क्षेत्र सरधना रोड मनोहर कोल्ड स्टोर के पास छोड दिया, ताकि गाडी को क्षेत्र में छोडऩे से मालूम हो कि सुभाष यही आस पास ही है।
पुलिस ने सुनीता को लेकर घटना स्थल को मौका मुआयना कर शव को बरामद करने का प्रयास किया लेकिन शव बरामद नही हो सका, जिसके बाद पुलिस ने सुनीता को अपहरण के मुकदमे मे जेल भेज दिया। सुनीता से शव को प्लान के साथ ठिकाने लगाने की बात को पूछने पर बताया कि यह सब सावधान इंडिया को देखकर आईडिया आया था। वहीं थाना इंस्पेकटर दीपक शर्मा ने बताया कि यह सुभाष का प्रीप्लान अपहरण कर हत्या को अंजाम दिया गया है। जिसमे सर्विलांस की मदद से पुलिस ने एक अधेरे मे तीर चलाकर हत्या की साजिस से पर्दा उठाया गया है। सुनीता को अपहरण के मुकदमे मे जेल भेजा जा रहा है। शव मिलने पर हत्या का मुकदमा तामील कर दिया जाएगा। दूसरे आरोपी को जल्द पकड़कर जेल भेजा जाएगा।

Share it
Top